एडवांस्ड सर्च

बसपा और सपा ने 2019 लोकसभा चुनावों के ठीक पहले ही एक दूसरे से हाथ मिलाया था और रुझान आने के कुछ दिन बाद ही गठबंधन भंग कर दिया. इन चुनावों में यह जरूर साफ हो गया कि सपा बसपा के इस गठबंधन से फायदा मायावती को ही पहुंचा.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव के दौरान बना समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी का गठबंधन अब टूट गया है. दोनों दलों के नेता एक-दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं. इस बीच केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने मायावती और अखिलेश यादव पर तंज कसा है.
    मायावती के लगातार हमलों पर अखिलेश यादव खामोशी अख्तियार किए हुए हैं. सपा नेताओं को इस खामोशी में ही फायदा दिख रहा है. ऐसे में सपा की कोशिश मायावती के वोट बैंक में सेंधमारी की है, जिसे अखिलेश यादव संपर्क और संवाद  के फॉर्मूले से अंजाम देना चाहते हैं.
    05:39
    सपा-बसपा (SP- BSP) गठबंधन के टूटने पर राजनीतिक गलियारों में हलचल है. गौरतलब है कि बीएसपी प्रमुख मायावती ने सोमवार को सपा के साथ गठबंधन तोड़ने का ऐलान किया. SP-BSP गठबंधन पर आजतक संवाददाता सिद्धार्थ तिवारी ने बात की नेताओं से. देखें वीडियो.
    04:41
    उत्तर प्रदेश में सपा (SP) और बसपा (BSP) के बीच गठबंधन टूटने की कगार पर है. बहुजन समाज पार्टी ने समाजवादी पार्टी से गठबंधन तोड़ने का ऐलान किया है. इसी मुद्दे पर आजतक संवाददाता सिद्धार्थ तिवारी ने बात की पूर्व सपा नेता अमर सिंह (Amar Singh) से. देखें, क्या बोले सपा- बसपा गठबंधन पर क्या बोले अमर सिंह.
    देश, दुनिया, महानगर, खेल, आर्थिक और बॉलीवुड में क्‍या कुछ हुआ. जानने के लिए यहां पढ़ें समय के साथ साथ खबरों का लाइव अपडेशन.
    27:39
    मतलब निकल गया तो पहचानते नहीं, जी हां सियासी हलकों में आज ये पुराना तराना खूब गूंज रहा है. दरअसल आज बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने आधिकारिक रूप से ऐलान कर दिया कि अब समाजवादी पार्टी से उनका कोई चुनावी रिश्ता नहीं रहेगा. उपचुनाव ही नहीं, आगे के सारे चुनाव बीएसपी अकेले लड़ेगी. स्पेशल रिपोर्ट में देखें आज इसी मुद्दे पर हमारी खास पेशकश.
    समाजवादी पार्टी के सांसद शफीक उर रहमान बर्क ने गठबंधन टूटने पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि जब हार हो जाती है तो बहुत सी चीजें हो जाती हैं. आपस का तालमेल टूट जाता है.
    01:08
    समाजवादी पार्टी (सपा) के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क का कहना है कि उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी और सपा के बीच गठबंधन टूटा नहीं है. उन्हें उम्मीद है कि यह गठबंधन आगे भी बना रहेगा. बसपा प्रमुख मायावती के अखिलेश यादव पर मुस्लिम नेताओं के ज्यादा टिकट नहीं देने के सवाल पर कहा कि ऐसा नहीं है. ऐसा नहीं हो सकता. लोकसभा चुनाव परिणाम आने के बाद सपा-बसपा गठबंधन टूटने की संभावना और मायावती की ओर से बार-बार अखिलेश पर आरोप लगाने के सवाल पर उत्तर प्रदेश के संभल से सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने कहा कि जब चुनाव हारते हैं तो ऐसी स्थिति बन जाती है. जब फिर चुनाव आएगा तो हम निश्चित तौर पर साथ रहेंगे. इशांअल्लाह हम आगे भी साथ रहेंगे और एक साथ चुनाव लड़ेंगे.
    बसपा को अर्श से फर्श तक पहुंचाने के लिए कांशीराम ने दलित, पिछड़े और अल्पसंख्यक समुदाय का कास्ट फॉर्मूला बनाया था. इस फॉर्मूले के जरिए मायावती सूबे में चार बार मुख्यमंत्री तो बनीं लेकिन सहेजकर नहीं रख सकीं. ऐसे में मायावती की राजनीतिक विरासत संभालने वाले आनंद और आकाश क्या बसपा को दोबारा से खड़ा कर सकेंगे.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay