एडवांस्ड सर्च

द कपिल शर्मा शो इस बार खास होने जा रहा है. इस बार शो के गेस्ट होंगे कुमार विश्वास, पंकज त्रिपाठी और मनोज बाजपेयी. सभी अपनी जिंदगी से जुड़े राज भी उजागर करेंगे. शो में पंकज त्रिपाठी ने बताया कि वो 7 दिन जेल में भी रह चुके हैं.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    हिंदी दिवस पर जस्टिस मार्कंडेय काटजू ने एक लेख लिखा, जिसमें उन्होंने कहा कि हिंदी आम आदमी की भाषा नहीं है. उन्होंने अपने लेख में लिखा कि हिंदी को अंग्रेजों ने भारतीय लोगों को बांटने के लिए बनाया था.
    03:06
    चंद्रयान-2 की चांद पर लैंडिंग को लेकर देशवासियों का उत्साह देखते ही बन रहा है. इस ऐतिहासिक मौके पर आजतक की खास पेशकश चांद के पार चलो में प्रख्यात कवि कुमार विश्वास ने चांद पर नायाब कविताएं प्रस्तुत कर सारा समा लूट लिया. कुमार विश्वास की चांद-चकोर की पंक्तियों पर लोगों ने जमकर तालियां बरसाईं. इस वीडियो में देखिए कुमार विश्वास ने कैसे चांद की एक अनोखी व्याख्या बताई है. देखिए वीडियो.
    आज सुनवाई का 16वां दिन है. श्री रामजन्म भूमि पुनरुत्थान समिति के वकील पी.एन. मिश्रा ने शुक्रवार को अदालत में अपनी दलीलें दीं.
    अरुण जेटली भले ही कोई लोकसभा चुनाव जीता हो, लेकिन उनकी अहमियत भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेताओं में रही. उन्हें पार्टी का चाणक्य भी कहा गया क्योंकि वह चुनावी रणनीति बैठाने में माहिर थे.
    साहित्य के सबसे बड़े महाकुंभ 'साहित्य आजतक 2019' की घोषणा हो चुकी है. यह मेला इस साल 1 नवंबर से 3 नवंबर को लगेगा. इसके लिए फ्री रजिस्ट्रेशन की शुरुआत हो चुकी है.
    केजरीवाल सहित आम आदमी पार्टी के 6 नेताओं ने वर्ष 2015 में अरुण जेटली पर दिल्ली जिला क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) में भ्रष्टाचार करने के आरोप लगाए थे. जिस पर जेटली ने केजरीवाल समेत उनकी पार्टी के नेताओं- कुमार विश्वास, संजय सिंह, राघव चड्ढा, आशुतोष और दीपक बाजपेयी को कोर्ट में घसीटते हुए 10 करोड़ रुपए के मानहानि का केस किया था.
    अक्षय से पूछा गया था कि उनकी फिल्मों और पीएम मोदी के प्रोजेक्ट्स में समानता देखने को मिल रही है. इस पर अक्षय ने जवाब दिया कि मोदी सर ने साल 2014 में स्वच्छ भारत की शुरूआत की थी और मेरी फिल्म टॉयलेट एक प्रेम कथा साल 2017 में आई थी तो आप यहां गलत हैं.
    जश्ने आजादी की 73वीं सालगिरह पर साहित्य आजतक पर पढ़िए विदेशों में आजादी की अलख जगानेवाले उन राष्ट्रभक्तों के बारे में जिन्होंने आजादी आंदोलन में लिखा तो अमिट फलसफा, पर उनके किए को लंबे समय तक अनदेखा किया गया था.
    समस्या ये है कि पूरी दुनिया का ध्रुवीकरण हो रहा है. मेरी फिल्म में एक डायलॉग है - ऐसा नहीं है कि एक कम्युनिटी को सब त्रासदियां झेलनी पड़ रही हैं, बल्कि पूरी दुनिया को चीज़ें झेलनी पड़ रही हैं. डॉनल्ड ट्रंप को देखो, ब्रेक्जिट देखो, बोरिस जॉनसन को देखिए. दुनिया का आज ध्रुवीकरण हो चुका है. आप इस दुनिया में रहते हैं तो आपको ये सब झेलना पड़ेगा.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay