एडवांस्ड सर्च

महाराष्ट्र के कोल्हापुर में ट्रक में ब्लास्ट का मामला सामने आया है. इस ब्लास्ट में ट्रक ड्राइवर की मौत हो गई. कोल्हापुर के एसपी ने इंडिया टुडे को बताया कि एक ट्रक सड़क पर खड़ा था और तभी उसमें विस्फोट हो गया.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    उत्तर प्रदेश के मऊ जिले के दोहरीघाट थाना क्षेत्र के मादी सिपाह गांव में मां और बेटे की हत्या मामले को पुलिस ने सुलझाने का दावा किया है.
    हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की हत्या मामले में एक नया मोड़ सामने आया है. इस हत्याकांड में अब उनके परिवार ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता पर साजिश रचने का आरोप लगाया है.
    कमलेश तिवारी के समर्थकों ने उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और मुर्दाबाद के नारे लगाए. लगातार हो रहे विरोध के बीच दिनेश शर्मा को वहां से तुरंत वापस लौटना पड़ा. उन्हें भारी सुरक्षा के बीच पुलिस ने वहां से निकाला.
    देश के 17 राज्यों में 1 लोकसभा और 63 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं जिसमें रामपुर विधानसभा सीट भी शामिल है. रामपुर में जीत हासिल करने के लिए बीजेपी लगातार प्रयास में जुटी है. रामपुर में चुनाव प्रचार के दौरान एक नेता ने 3 पार्टी के ध्वज को मिलाकर बीजेपी का झंडा बना दिया.
    UPPSC PCS 2019 परीक्षा के लिए आवेदन शुरू कर दिए हैं. इस साल परीक्षा से 5 विषय हटाए गए हैं. यहां पढ़ें पूरी डिटेल्स
    पूर्व पीडब्ल्यूडी मंत्री बादल चौधरी भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीआई) की केंद्रीय समिति के सदस्य भी हैं और उन पर 600 करोड़ रुपये के पीडब्ल्यूडी घोटाले में उनकी कथित भूमिका के लिए एक अदालत की ओर से अग्रिम जमानत नहीं मिली.
    उत्तराखंड की राजधानी देहरादून के थाना डालनवाला क्षेत्र में भारतीय जनता पार्टी की महिला पार्षद के पति राकेश को गोली मारने की वारदात सामने आई है.
    आंध्र प्रदेश में तेलुगू अखबार के लिए काम कर रहे एक पत्रकार की गला रेतकर हत्या कर दी गई है. इस घटना से राज्य के पत्रकारों में गहरा रोष है. सीएम जगन मोहन ने घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं. पत्रकार पर ये हमला पूर्वी गोदावरी के टूनी क्षेत्र में हुआ है. पत्रकार टी सत्यनारायण एक तेलुगू समाचार पत्र में बतौर रिपोर्टर काम करते थे. घटना पत्रकार टी सत्यनारायण के घर के बगल में ही हुई है.
    श्मशान घाट में जमीन के नीचे मटकी में दबी मिली बच्ची का बचना लोगों के लिए किसी चमत्कार से कम नहीं है. जमीन के नीचे घड़े में मिलने के चलते इसका नाम सीता रखा गया है. सब लोग आश्चर्यचकित है कि कैसे ये जिंदा निकली. बिना हवा, पानी और दूध के 50 घंटे से भी ज्यादा देर जमीन के अंदर जिंदा रही.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay