एडवांस्ड सर्च

बिहार में आरजेडी और जेडीयू के बीच पोस्टर वार जारी है. तेजस्वी यादव बेरोजगारी हटाओ यात्रा पर निकल रहे हैं, ऐसे में नया पोस्टर निकाल कर जेडीयू ने आरजेडी पर तंज कसा है.

Speak Now



x
Languages:    हिन्दी    English
About 30374 results (4 seconds)
    23 फरवरी को पटना के वेटनरी कॉलेज ग्राउंड में तेजस्वी यादव बेरोजगारी हटाओ यात्रा की शुरुआत करेंगे. वहीं तेजस्वी जिस बस से यात्रा करेंगे उसे युवा क्रांति रथ का नाम दिया गया है. तेजस्वी इस हाईटेक बस पर राज्य के हर जिले में रैली का नेतृत्व करेंगे.
    एआईएमआईएम नेता वारिस पठान के विवादित बयान पर आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने टिप्पणी करते हुए कहा है कि उनकी गिरफ्तारी होनी चाहिए. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि AIMIM बीजेपी की बी-टीम की तरह काम कर रही है.
    बिहार की सियासत में ये दोनों दो युवा चेहरे अपनी-अपनी यात्रा के जरिए राजनीतिक माहौल बनाने में जुटे हैं. एक जेएनयू के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार हैं तो दूसरा नाम आरजेडी नेता तेजस्वी यादव का है. इन दोनों की राजनीतिक सक्रियता से बीजेपी गदगद नजर आ रही है.
    हाईटेक बस को लेकर उठे विवाद को लेकर जेडीयू ने एक पोस्टर जारी किया है. पोस्टर में दर्शाया गया है कि किस तरीके से तेजस्वी यादव ने अति पिछड़ा समाज से आने वाले एक व्यक्ति के साथ आर्थिक जालसाजी की.
    आरजेडी नेता बस से बेरोजगारी हटाओ यात्रा पर निकलने की तैयारी में हैं, जिसे युवा क्रांति रथ नाम दिया गया है. हालांकि इस यात्रा की शुरुआत होने से पहले ही बस को लेकर बवाल मच गया है.
    बिहार विधानसभा चुनाव के लिए राजनीतिक दलों ने अपनी कमर कस ली है. शुक्रवार को महागठबंधन की बैठक हुई लेकिन इसमें कांग्रेस-राजद ने हिस्सा नहीं लिया.
    दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद अब बिहार विधानसभा पर भी देश की नजर है. दिल्ली में बीजपी की हार हुई है. बिहार में आरजेडी के नेतृत्व में महागठबंधन का दावा है कि बिहार में भी बीजेपी को झटका लगेगा और बीजेपी ही सरकार बनाएगी.
    Delhi Election Results 2020: दिल्ली में आप की चुनावी जीत पर राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के नेता तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को बधाई दी है. तेजस्वी ने कहा है कि दिल्ली की जनता का जनादेश सभी को स्वीकार करना चाहिए.
    राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ अपने सबसे बेहतर दौर में गुजर रहा है. देश की मौजूदा राजनीतिक दशा और दिशा भी आरएसएस की लिखी हुई पटकथा पर चलती नजर आ रही है. ऐसे में संघ के सर कार्यवाह सुरेश भैयाजी जोशी ने रविवार को गोवा के पणजी में बयान दिया है कि राजनीतिक लड़ाई को हिंदुओं से जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए. बीजेपी का विरोध हिंदुत्व का विरोध नहीं है.

    एडवांस्ड सर्च

    रिलेटेड स्टोरी

    No internet connection

    Okay