एडवांस्ड सर्च

Advertisement

'हर घर में 24 घंटे बिजली हमारा लक्ष्य'

आज तक के कार्यक्रम 'सुनिये वित्त मंत्रीजी' के सत्र पावर गेम में देश के ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि मोदी सरकार का लक्ष्य देश के हर घर तक 24 घंटे बिजली पहुंचाना है वो भी सस्ते दर पर.
'हर घर में 24 घंटे बिजली हमारा लक्ष्य' केंद्रीय ऊर्जा और कोयला मंत्री पीयूष गोयल
aajtak.in [Edited By: संदीप कुमार सिन्हा]नई दिल्‍ली, 04 July 2014

आज तक के कार्यक्रम 'सुनिये वित्त मंत्रीजी' के सत्र पावर गेम में देश के ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि मोदी सरकार का लक्ष्य देश के हर घर तक 24 घंटे बिजली पहुंचाना है वो भी सस्ते दर पर. इसकी चुनौतियों और संभावनाओं के बारे में जनता को समझाने की जरूरत है. उम्मीद है कि हम सब मिलकर जनता की समस्याओं का समाधान करेंगे.

पीयूष गोयल ने कहा, '24 घंटे बिजली वो भी हर घर तक, यही हमारा लक्ष्य है. मेरे पास तीन मंत्रालय हैं. कोयला और ऊर्जा विभाग में समन्वय बनाने की कोशिश हो रही है. जिस तरह से हम काम कर रहे हैं, उम्मीद है कि लक्ष्य हासिल कर लेंगे.'

उन्होंने आगे कहा, 'फिलहाल बिजली और कोयला विभाग की कमियों के बारे में कुछ ज्यादा नहीं कहूंगा. कोयला ईंधन है, इसकी जरूरत हर थर्मल पावर प्लांट को है. 2009 तक कोयला उत्पादन और बिजली कंपनियों के बीच ठीकठाक तालमेल था. करीबन 8 फीसदी की दर से दोनों क्षेत्र में वृद्धि हो रही थी. लेकिन 2009 के बाद कोयला खान को लेकर विवाद शुरू हो गया. 2009 से 2012 बीच नए कोयला खदान नहीं खुले. वहीं मौजूदा खदानों का विस्तार भी नहीं हुआ. फिर कोयला खदान के आवंटन को लेकर प्रधानमंत्री खुद भी सवालों घेरे में आ गए. कोयला उत्पादन स्थिर हो गया था. भ्रष्टाचार और कानूनी पचड़े के कारण, जहां 135 मिलियन टन कोयले का उत्पादन होना था वह सिर्फ 37 मिलियन टन तक रुक गया.'

पीयूष गोयल ने कहा, 'मामला सिर्फ बिजली उत्पादन बढ़ाने का नहीं है. उसका वितरण कैसे होगा, इस पर भी नीति साफ होनी चाहिए. क्योंकि आज की तारीख में कई ऐसे पावर प्लांट हैं जो अपना उत्पादन बढ़ाने को तैयार हैं पर उस बिजली का क्या होगा यह किसी को नहीं पता.'

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay