एडवांस्ड सर्च

केरल: बाढ़ पीड़ितों के लिए इन दो IAS ने उठाई चावल की बोरियां

केरल बाढ़ में मदद कर रहे दो आईएएस अधिकारियों की तस्वीर वायरल हो रही हैं, जो राहत कार्य के लिए आवश्यक चावल की बोरियों को खुद ट्रक से उतार रहे हैं.

Advertisement
aajtak.in [Edited By: मोहित पारीक]नई दिल्ली, 21 August 2018
केरल: बाढ़ पीड़ितों के लिए इन दो IAS ने उठाई चावल की बोरियां बोरी उठाते आईएएस अधिकारी

केरल में आई बाढ़ के लिए राहत कार्य जारी है और देश-विदेश से हर कोई हरसंभव मदद कर रहा है. जहां एक ओर बॉलीवुड जगत के लोग पैसे से मदद कर रहे हैं तो मछुआरे अपनी नाव से मदद कर रहे हैं. किसी ने शादी की तारीख सिर्फ इसलिए आगे बढ़ा दी, क्योंकि इससे जगह को राहत कैंप के लिए इस्तेमाल किया जा सके. इसी बीच दो आईएएस भी हैं, दो आईएएस की तस्वीरें भी वायरल हो रही हैं, जो अपने कंधे पर सामान रखकर सप्लाई कर रहे हैं.

ये दो आईएएस हैं एमजी राजमणिक्यम और एनएसके उमेश. रिपोर्ट्स के अनुसार हाल ही में दोनों अधिकारियों ने राहत कैंप के लिए आई चावलों की बोरियों और अन्य खाद्य सामग्री को ट्रक से उतारा था. उन्होंने कर्मचारियों के अभाव में खुद ने ही काम करना शुरू कर दिया और चावलों को कैंप में रखना किया.

ये शख्स कभी बीनता था कूड़ा...जानें- कैसे बना फेमस फोटोग्राफर

वहीं आईएएस एसोसिएशन ने भी इन अधिकारियों की तारीफ की है और उनकी फोटो को ट्वीट किया है. आईएएस एसोसिएशन ने फोटो ट्वीट करते हुए कहा कि जी राजमणिक्यम आईएएस और एनएसके उमेश आईएएस सब-क्लेक्टर, वायनाड ने राहत कैंपों के लिए क्लेक्ट्रेट में चावल के बोरियां उतारीं. रात 9.30 बजे कर्मचारियों के साथ चावल की बोरियों से पूरी गाड़ी उतारीं.

बता दें कि राहत एवं बचाव कार्यो में सेना, वायुसेना और नौसेना के नेतृत्व में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की टीमों के साथ 1,300 कर्मियों और 435 नौकाओं को तैनात किया गया है. संसाधनों को पहुंचाने के लिए 20 विमानों के अलावा 38 हेलिकॉप्टर तैनात किए गए हैं. केरल में बाढ़ के कहर से 3.14 लाख लोगों को अपना घर छोड़ना पड़ा है. करीब 2.5 लाख लोग राहत शिविरों में रहने को मजबूर हैं.

 

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay