एडवांस्ड सर्च

मिलिए इरम हबीबी से, जो हैं कश्मीर की पहली मुस्लिम पायलट

मिलिए इरम हबीब से, जिनके लिए कहा जा रहा है कि वो जम्मू-कश्मीर की पहली महिला पायलट हैं.

Advertisement
aajtak.in
मोहित पारीक नई दिल्ली, 04 September 2018
मिलिए इरम हबीबी से, जो हैं कश्मीर की पहली मुस्लिम पायलट इरम हबीब (फोटो- ट्विटर)

जम्‍मू-कश्‍मीर की रहने वाली इरम हबीब प्रदेश की पहली मुस्लिम महिला पायलट बन गई हैं. 30 साल की इरम अगले महीने अब निजी एयरलाइंस गो एयर जॉइन करेंगी. इससे पहले इरम कश्‍मीरी पंडित समुदाय से आने वाली तन्‍वी रैना साल 2016 में घाटी की पहली महिला पायलट बनी थीं.

हबीब ने 2016 में एयर इंडिया जॉइन किया था. पिछले साल अप्रैल महीने में 21 साल आएशा अजीज भारत की सबसे युवा स्‍टूडेंट पायलट बनी थीं. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उन्होंने अमेरिका में करीब 260 घंटे विमान उड़ाने का अनुभव हासिल किया है. उन्हें अमेरिका और कनाडा में व्यावसायिक विमान उड़ाने का लाइसेंस मिल गया है. वे बचपन से ही पायलट बनना चाहती थीं.

अंडे के छिलके से ऐसे मोटी कमाई कर रही हैं ये महिलाएं... अपनाया ये तरीका

हालांकि इरम का पायलट बनने का सफर काफी मुश्किल था. इरम के पिता कश्‍मीर के सरकारी अस्‍पतालों में सर्जिकल सामानों की आपूर्ति करते हैं. बचपन से ही इरम का सपना पायलट बनने का था और वो डॉक्ट्रेट की पढ़ाई भी करना चाहती थीं, लेकिन उन्होंने पायलट बनने का सपना पूरा किया.

पहले अमेरिका में वैज्ञानिक थे, अब भारत में खेतीबाड़ी कर रहे हैं हरिनाथ

इंडिया टाइम्स के अनुसार, देहरादून से वानिकी में स्‍नातक की पढ़ाई करने के बाद उन्‍होंने शेर-ए-कश्‍मीर यूर्निवर्सिटी से पोस्‍ट ग्रेजुएशन की पढ़ाई की है. इरम इस समय दिल्‍ली में हैं और व्‍यवसायिक पायलट बनने के लिए क्‍लासेज ले रही हैं. इरम ने बताया कि उन्‍होंने अमेरिका में करीब 260 घंटे विमान उड़ाने का अनुभव हासिल किया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay