एडवांस्ड सर्च

कभी टीचर था नॉर्थ ईस्ट का ये शख्श, पहली बार चुनाव लड़ा और बन गया MP

त्रिपुरा पूर्व लोकसभा क्षेत्र से बीजेपी के प्रत्याशी रहे रेवती त्रिपुरा आज अपने इलाके के सांसद बन चुके हैं. त्रिपुरा के एक पिछड़े गांव के रहने वाले रेवती का सफर आसान नहीं रहा. आज वह बड़ी जीत हासिल कर चुके हैं.

Advertisement
मानसी मिश्रानई दिल्ली, 30 May 2019
कभी टीचर था नॉर्थ ईस्ट का ये शख्श, पहली बार चुनाव लड़ा और बन गया MP रेवती त्रिपुरा (फोटो- फेसबुुक)

त्रिपुरा पूर्व लोकसभा क्षेत्र से बीजेपी के प्रत्याशी रहे रेवती त्रिपुरा आज अपने इलाके के सांसद बन चुके हैं. त्रिपुरा के एक पिछड़े गांव के रहने वाले रेवती का सफर आसान नहीं रहा. आज वह बड़ी जीत हासिल कर चुके हैं.

रेवती त्रिपुरा के गांव का नाम राइना वेली है. वह गोंडा सोरा में पैदा हुए और एक मिडिल क्लास परिवार से हैं. रेवती के पिता किसान हैं. रेवती की ओर से आज तक को मिली जानकारी के अनुसार वह एक ऐसे गांव से आते हैं जो बहुत पिछड़ा है. वहां न सड़क परिवहन अच्छा था और न ही अन्य संसाधन थे.

उन्होंने किसी तरह घर से निकलकर त्रिपुरा यूनिवर्सिटी से राजनीति विज्ञान से एमए की पढ़ाई किया. वहां से निकलकर वह नौकरी ढ़ूढ़ने लगे. उन्हें कुछ ही दिन में एक सरकारी मान्यता प्राप्त स्कूल में टीचर की नौकरी मिली. इस स्कूल में वह बच्चों को राजनीति विज्ञान ही पढ़ाते थे. वह करीब 5 साल से भारतीय जनता युवा मोर्चा के नेशनल एग्जीक्यूटिव मेंबर हैं.

चुनाव से पहले नौकरी छोड़ी

बच्चों को लंबे समय से पढ़ा रहे रेवती को सांसद का चुनाव लड़ने का मौका मिला तो उन्होंने अपने जॉब से न्याय करने की ठानी. उन्होंने अपने प्रचार को वक्त देने के लिए टीचर की नौकरी छोड़ दी. उसके बाद वह अपने नये कॅरियर के पीछे भागने लगे. रेवती अपनी लोकसभा में ज्यादा से ज्यादा लोगों से मिलने पर विश्वास रखते थे. यह उनकी अच्छी इमेज और मेहनत का ही फल था कि उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी को करारी हार दी.

रेवती के बारे में कहा जाता है कि वह एक सेल्फमेड नेता हैं जिनका अपना न कोई गॉड फादर था और न ही बड़ी राजनीतिक पृष्ठभू‍मि. फिर भी वह अपनी राजनीतिक इच्छाशक्त‍ि से आगे बढ़ते रहे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay