एडवांस्ड सर्च

पानी के अंदर रूबिक क्यूब सॉल्व कर बनाया गिनीज बुक रिकॉर्ड

जानिए कैसे मुंबई के रहने वाले 20 साल के इस लड़के ने पानी के अंदर सॉल्व कर लिया रूबिक क्यूब...  अब नाम हुआ गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल...

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in/ प्रियंका शर्मा नई दिल्ली, 20 May 2019
पानी के अंदर रूबिक क्यूब सॉल्व कर बनाया गिनीज बुक रिकॉर्ड Chinmay Prabhu- (Photo- ANI)

मुंबई के रहने वाले 20 साल के तैराक चिन्मय प्रभु ने पानी के भीतर 9 खंडों वाले रूबिक क्यूब की गुत्थी सुलझाकर अपना नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज कराया है. रूबि‍क क्यूब को एक आकार में लाकर सेट करना आसान नहीं है. वो भी पानी के भीतर इसे करना तो और भी कठिन हो जाता है. लेकिन चिन्मय के रूबिक के शौक ने उन्हें अंतर्राष्ट्रीय पहचान दिला दी है. पिरामिड के आकार के रूबिक क्यूब को पूल के भीतर पानी में एक मिनट 48 सेकेंड रहकर चिन्मय ने सेट कर दिया. इस पूरी प्रक्रिया को रिकॉर्ड करके गिनीज बुक के लिए बीते साल दिसंबर में भेजा गया था, जिसके बाद उन्हें इसी साल मार्च में इसके लिए गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड मिला है.

टाइम्स ऑफ‍ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने बताया कि मुझे क्यूबिंग और तैराकी दोनों ही बहुत पसंद हैं. इसलिए मैंने दोनों को मिलाकर इससे एक नया कीर्तिमान बना दिया. इससे पहले इन दोनों पर कोई रिकॉर्ड नहीं बनाया गया.

सांस रोकने के अभ्यास ने दिलाई पहचान

चिन्मय ने आगे कहा कि करीब पांच साल पहले की बात है जब मैं अपनी सांस केवल 30-35 सेकेंड के लिए ही रोक सकता था. धीरे-धीरे सांस रोकने के अभ्यास से यह अवधि बढ़कर डेढ़ मिनट हो गई. मुझे सांस रोककर पानी में रहने के निरंतर अभ्यास ने यह उपलब्धि दिलाई.

फोर पिरेमिनेक्स का रिकॉर्ड मौजूद

गिनीज बुक में इससे पहले फोर पिरेमिनेक्स का रिकॉर्ड दर्ज था लेकिन प्रभु ने अब नाइन पिरेमिनेक्स का रिकॉर्ड बना दिया है. वर्ष 2017 में प्रभु ने अपने पैरों से मिरर क्यूब को सॉल्व करके लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड में नाम दर्ज किया था. प्रभु ने अब इसके लिए ट्रेनिंग देनी शुरू की है. वह कहते हैं कि मेरा सबसे छोटा स्टूडेंट चार साल का है, जिसे मैं सिखा रहा हूं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay