एडवांस्ड सर्च

मिलिए लस्सी बेचने वाले की बॉक्सर बेटी से, जिसके PM भी हुए मुरीद

PM ने किया लस्सी बेचने वाले की बेटी का जिक्र, जिसने बॉक्सिंग में जीता था गोल्ड मेडल...

Advertisement
aajtak.in [Edited by: प्रियंका शर्मा ]नई दिल्ली, 30 December 2018
मिलिए लस्सी बेचने वाले की बॉक्सर बेटी से, जिसके PM भी हुए मुरीद रजनी (फोटो ट्विटर)

'मन की बात' के 51वें कार्यक्रम में पीएम मोदी नरेंद्र मोदी ने रविवार को 16 साल की रजनी नाम की लड़की की तारीफ की और बताया कैसे उसने बॉक्सिंग में गोल्ड मेडल हासिल किया. बता दें, हाल ही में चर्चा में आईं रजनी ने एक बॉक्सर हैं. उन्होंने "जूनियर नेशनल महिला बॉक्सिंग चैम्पियनशिप" में गोल्ड मेडल हासिल किया है.

कौन है साइकिल से 14 देश घूमने वाली ये लड़की? जिसकी PM ने की तारीफ

रजनी ने चंडीगढ़ विश्वविद्यालय में 46 किलोग्राम दूसरे "जूनियर महिला बॉक्सिंग चैंपियनशिप" में 46 किलोग्राम में उत्तर प्रदेश की रागिनी उपाध्याय को 3-0 से हराकर जीत हासिल की थी.

पीएम मोदी ने जिक्र करते हुए कहा - जैसे ही रजनी ने गोल्ड मेडल हासिल किया उसके बाद तुरंत पास के दूध की दूकान पर गई और एक गिलास दूध पिया. जिसके बाद अपने मेडल को एक मेडल को कपड़े में लपेट कर बैग में रख लिया. लोग इस बात से हैरान थे मेडल हासिल करने के तुरंत बाद रजनी एक गिलास दूध क्यों पिया. दरअसल रजनी ने ऐसा अपने पिता जसमेर सिंह के सम्मान में किया. जो पानीपत के एक स्टॉल पर लस्सी बेचते हैं.

रजनी के साधारण परिवार से ताल्लुक रखती हैं. जब उसने बॉक्सिंग करने की इच्छा अपने पिता को बताई. उसके पिता ने अपनी बीटिया रानी को बॉक्सिंग चैंपियन बनाने हर मुमकीन कोशिश की. बता दें, उनके पिता रजनी और उनके भाई के उठने से पहले लस्सी बेचने चले जाते हैं. रजनी के पिता ने बॉक्सिंग के लिए हरसंभव साधन उपलब्ध करवाए.

रजनी के मन में एक बेहतरीन बॉक्सर बनने की आग थी. घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी. जिसके बावजूद रजनी को बॉक्सिंग की प्रैक्टिस पुराने ग्लव्स के साथ करनी पड़ी. जिसके बाद पूरा फोकस बॉक्सिंग पर ही रखा.

3 बच्चों की मां मेरीकॉम, 35 की उम्र में छठी बार बनीं वर्ल्ड चैम्पियन

बॉक्सिंग सीखने से लेकर और गोल्ड मेडल जीतने तक का सफर रजनी के लिए आसान नहीं था. उन्हें कई कठिनाईयों का सामना करना पड़ा. रजनी ने 'नेशन जूनियर कप'  सर्बिया में भी एक गोल्ड मेडल  हासिल किया है. ये पहली बार था जब रजनी के कोई विदेश यात्रा की. रजनी ने बताया कि वह 6 बार विश्व चैंपियन मैरी कॉम से मिलना चाहती हैं. बता दें, अंत में PM मोदी ने जहां 'मन की बात' की बात में रजनी को शुभकामनाएं दीं वहीं उनके माता-पिता को भी बधाई दी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay