एडवांस्ड सर्च

इलेक्ट्रीशियन के बेटे को US में मिली नौकरी, पैकेज है 69 लाख रुपये

दिल्ली के रहने वाले एक इलेक्ट्रीशियन के बेटे को 1 लाख डॉलर के पैकेज पर अमेरिकी कंपनी में नौकरी मिली है. इलेक्ट्रीशियन ने काफी मुश्किलों से अपने बेटे को पढ़ाया था.

Advertisement
aajtak.in [Edited By: मोहित पारीक]नई दिल्ली, 22 August 2018
इलेक्ट्रीशियन के बेटे को US में मिली नौकरी, पैकेज है 69 लाख रुपये प्रतीकात्मक फोटो

दिल्ली के रहने वाले मोहम्मद आमिर को अमेरिका की एक कंपनी ने नौकरी का ऑफर दिया है. कंपनी ने उन्हें यह नौकरी एक लाख डॉलर यानी करीब 69 लाख रुपये सैलरी पर दी है. आमिर ने जामिया मिल्लिया इस्लामिया में डिप्लोमा इन मैकेनिकल इंजीनियरिंग किया है और उनके पिता एक इलेक्ट्रीशियन हैं. बताया जा रहा है कि जामिया के डिप्लोमा होल्डर को दिया जाने वाला यह सबसे ज्यादा का पैकेज है.

उनके सात भाई बहन हैं और वो उनमें दूसरे नंबर के हैं. उन्होंने जेएमआई स्कूल बोर्ड परीक्षा में भी सबसे ज्यादा अंक हासिल किए थे, लेकिन उन्हें बीटेक कोर्स के लिए एडमिशन नहीं मिला. उसके बाद उन्हें एनआईटी झारखंड के आर्किटेक्चर कोर्स में एडमिशन मिला लेकिन पैसे की कमी की वजह से कॉलेज जॉइन नहीं कर सके.

साल 2015 में उन्होंने जामिया में मैकेनिकल इंजीनियरिंग में दाखिला लिया और इलेक्ट्रिक गाड़ियों के लिए पैशन ने उन्हें यहां पहुंचा दिया. रिपोर्ट्स के अनुसार उनके इलेक्ट्रिशियन पिता ने उन्हें पढ़ाने के लिए बहुत मुश्किलों का सामना किया. आमिर बताते हैं कि यह कंपनी अमेरिका की जानी मानी सबसे बड़ी कंपनी की प्रतिस्पर्धी है.

टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार अली के कहा, 'इलेक्ट्रिक व्हीकल के लिए चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर भारत में अहम चुनौती है. मैंने एक थ्योरी बनाई. अगर मैं सफल हुआ तो चार्जिंग वाहनों की लागत बहुत कम हो जाएगा. लेकिन पहले मेरे शिक्षकों ने मुझ पर भरोसा नहीं किया, क्योंकि यह काम का नया एरिया था. हालांकि बाद में असिस्टेंट प्रोफेसर वकार आलम ने मेरे काम के पोटेंशनल को महसूस किया. मैंने मेरी रिसर्च का प्रोटोटाइप तालिमी मेला में दिखाया.

उन्होंने पढ़ाई के दौरान अपने प्रोजेक्ट में मारुति की 800 कार को इलेक्ट्रिक कार में तब्दील किया था. जिस प्रोजेक्ट की वजह से यह चयन हुआ है.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay