एडवांस्ड सर्च

सोशल मीडिया में 'प्राइवेसी' को लेकर भारतीय लापरवाह

सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र में हुए व्यापक विकास के मद्देनजर भारत में निजता के बाबत पैदा हुई सोच से जुड़े एक अध्ययन में कहा गया है कि ज्यादातर लोग इंटरनेट और फेसबुक सहित ऑनलाइन सोशल मीडया संबंधी निजता के मुद्दों के प्रति लापरवाह हैं.

Advertisement
aajtak.in
भाषानई दिल्ली, 10 December 2012
सोशल मीडिया में 'प्राइवेसी' को लेकर भारतीय लापरवाह

सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र में हुए व्यापक विकास के मद्देनजर भारत में निजता के बाबत पैदा हुई सोच से जुड़े एक अध्ययन में कहा गया है कि ज्यादातर लोग इंटरनेट और फेसबुक सहित ऑनलाइन सोशल मीडया संबंधी निजता के मुद्दों के प्रति लापरवाह हैं.

‘प्रीकॉग ऐट आईआईआईटी दिल्ली’ के लिए प्रोफेसर पी कुमारगुरु और निहारिका सचदेवा की ओर से किए गए अध्ययन में कहा गया है, ‘करीब 75 फीसदी भागीदारों ने किसी वेबसाइट पर निजता की नीति के बारे में नहीं पढ़ा. इसी तरह करीब 75 फीसदी लोगों ने अपनी निजी जानकारी साझा करने से पहले वेबसाइट की निजता नीति पर गौर नहीं फरमाया.’

अध्ययन में देश भर के 10,000 से ज्यादा लोगों को शामिल किया गया था. प्रीकॉग दिल्ली के इंद्रप्रस्थ सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईआईटी) के शोधकर्ताओं का एक समूह है जो ‘ट्विटर’ और ‘फेसबुक’ सहित सोशल नेटवर्किंग साइटों जैसी जटिल नेटवर्क प्रणालियों के सुरक्षा और निजता से जुड़े पहलुओं का अध्ययन, विश्लेषण, निर्माण और मूल्यांकन करता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay