एडवांस्ड सर्च

इन भारतीय महिलाओं ने विश्व मंच पर किया देश का नाम रोशन

बीबीसी की सौ श्रेष्ठ महिलाओं की सूची आ चुकी है और गर्व की बात ये है कि इस सूची में हमारे देश की सात महिलाएं अपनी जगह बनाने में कामयाब रही हैं.

Advertisement
aajtak.in
भूमिका राय नई दिल्ली, 28 November 2015
इन भारतीय महिलाओं ने विश्व मंच पर किया देश का नाम रोशन दुनिया की सौ प्रेरक महिला में से 7 भारतीय

बीबीसी की सौ श्रेष्ठ महिलाओं की सूची आ चुकी है और गर्व की बात ये है कि इस सूची में हमारे देश की सात महिलाएं अपनी जगह बनाने में कामयाब रही हैं.

बीबीसी की इस सूची में हर श्रेणी से महिलाओं का चुनाव किया गया है. इसमें राजनीति, मनोरंजन, विज्ञान और दूसरे अन्य क्षेत्रों में उत्कृठ काम करने वाली महिलाओं को स्थान दिया गया है.

जानी-मानी प्लेबैक सिंगर आशा भोंसले, टेनिस स्टार सानिया मिर्जा, बेहतरीन अदाकारा कामिनी कौशल, रिंपी कुमारी, स्मृति नागपाल, मुमताज शेख और कनिका टेकरीवाल अपनी जगह बनाने में कामयाब रही हैं.

दुनिया की सौ प्रेरक महिलाओं में से सात महिलाएं भारत से हैं और ये वाकई देश के लिए गौरव की बात है. इन सभी महिलाओं की सफलता की अपनी कहानी है और इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि ये सफलता उन्होंने अपनी कड़ी मेहनत के बलबूते हासिल की है.

आशा भोंसले ने बॉलीवुड में अपना करियर 1943 में शुरू किया था और वो अब तक हजार से अधिक गाने गा चुकी हैं. कामिनी कौशल को उनके दमदार अभिनय के लिए आज भी याद किया जाता है. उन्होंने 100 से अधिक फिल्मों में काम किया है.

रिंपी कुमारी राजस्थान की एक किसान हैं. जो अपनी बहन करमजीत के साथ खेती करती हैं. सानिया मिर्जा की सफलता का ग्राफ तो किसी से छिपा नहीं है. वो भारत की नंबर एक महिला टेनिस खिलाड़ी हैं. इसी साल उन्होंने दो ग्रैंड स्लैम अपने नाम किए हैं.

स्मृति नागपाल साइन लैंग्वेज इंटरप्रेटर हैं और वो अपने काम को पूरे जज्बे से निभाती हैं. मुमताज शेख ने महिलाओं के लिए शौचालय की व्यवस्था कराने के लिए काफी संघर्ष किया. इसी तरह कनिका टेकरीवाल ने कैंसर के आगे हार न मानते हुए अपने हौसले को बुलंद रखा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay