एडवांस्ड सर्च

क्या ऑफिस में आपके साथ हो रही है दादागिरी?

कहते हैं नौकरी पाना ही सबकुछ नहीं होता. नौकरी को बनाए रखना और समय-समय पर प्रोमोशन पाना भी एक नौकरी पेशा के लिए जरूरी है. पर आजकल ऑफिस पॉलिटिक्स और टेंशन से भी भला कौन अपरिचित है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in [Edited by: रोमा]नई दिल्ली, 29 October 2014
क्या ऑफिस में आपके साथ हो रही है दादागिरी? Symbolic Image

कहते हैं नौकरी पाना ही सबकुछ नहीं होता. नौकरी को बनाए रखना और समय-समय पर प्रोमोशन पाना भी एक नौकरी पेशा के लिए जरूरी है. पर आजकल ऑफिस पॉलिटिक्स और टेंशन से भी भला कौन अपरिचित है. अच्छा काम करो तब भी लपेटे में आ जाते हैं और बुरा काम करने वालों का हिटलिस्ट में आना  तो लाजमी है. खैर इस खबर को पढ़कर आप जान लीजिए कि कहीं आप इन पचड़े में तो नहीं पड़ गए हैं न?


1. ऑफिस बोले तो सिर में दर्द

अगर काम पर जाने की बात सोचते ही आपको दिक्कत होने लगती है,टेंशन बढ़ जाती है, तो मुमकिन है कि आप दादागिरी के शिकार हों. सोमवार को ऑफिस जाना सभी को बुरा लगता है, लेकिन यह अहसास हफ्ते भर कायम नहीं रहता.


2. आपकी बुराई बार-बार

अगर अच्छा काम और खूब मेहनत के बावजूद आलोचना रुकने का नाम नहीं ले रही, तो यह दादागिरी है. बिना सबूत के झाड़ लगाना भी यही है. अलग- अलग लोगों को निशाना बनाने के लिए दादागिरी के चेहरे भी अलग होते हैं.


3. आप पर चिल्लाना

धौंस जमाने वाले अकसर चिल्लाते हैं. अगर आप पर बार-बार चिल्लाया जा रहा है और दूसरों के सामने शर्मिंदा किया जा रहा है, तो जान लीजिए कि आप निशाने पर हैं.


4. आपकी गलतियां यानी सुर्खियां

अगर आपकी गलतियां बार-बार उठाई जाती हैं और उन्हें आपके हथियार की तरह इस्तेमाल किया जाता है, तो जान लीजिए कि कुछ लोचा जरूर है. आपको झूठे फंसाया भी जा सकता है.


5. गप्पों के शिकार

दादागिरी या धौंस जमाने का एक आम तरीका अफवाह फैलाना और दूसरों से बुराई करना भी होता है. कुछ लोग चिल्लाने के बजाय इस रणनीति पर ज्यादा अमल करते हैं.


6. आप अलग-थलग

अगर आपको मीटिंग,ऑफिस लंच या किसी सोशल मीटिंग से दूर रखा जा रहा है, तो कुछ गड़बड़ है. अगर बॉस आपकी सीट बदलकर आपको कहीं कोने में पटक रहा है तो यह भी दादागिरी है.


7. घर की याद

अगर आप छुट्टी सिर्फ इसीलिए  ले रहे हैं क्योंकि आपको ऑफिस से दूर रहने का मन है, तो यह आपके पीड़ित बनने का संकेत है.


8. नहीं दी जाती है जानकारी?

मुमकिन है कि आपको दुश्मन बनाने वाला शख्स बेशकीमती जानकारी छिपाकर बैठा हो, जिसके चक्कर में आपका काम पूरा न हो रहा हो. यह आपको नाकाम करने की कोशिश हो सकती है.


9. आप पर ज्यादा बोझ?

अगर आपको लगता है कि आपसे सबसे ज्यादा काम लिया जा रहा है और डेडलाइन बार-बार बदली जा रही है, तो दिक्कत है. आपको ऑफिस में ना रहने पर मीटिंग रखना भी कुछ ऐसा ही है.


10. आपको कोई श्रेय नहीं?

अगर आप किसी प्रोजेक्ट पर दिल लगाकर काम कर रहे हैं, लेकिन उसका श्रेय आपको नहीं दिया जा रहा है, तो यह भी ऑफिस की दादागिरी का संकेत है. साथ ही कई बार आपका बॉस, आपका क्रेडिट भी खुद या किसी और को भी दे सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay