एडवांस्ड सर्च

सैलरी के मामले में पुरुषों से कई कदम आगे हैं भारतीय महिलाएं

अब से कुछ समय पहले तक महिलाओं को सिर्फ घर तक ही सीमित समझा जाता था लेकिन पिछले कुछ सालों में महिलाओं ने जिस तरह से घर के बाहर कार्यक्षेत्र में खुद को साबित किया है वो वाकई अतुलनीय है.  आज वो न केवल पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी हैं बल्क‍ि कई मामलों में तो उनसे कई कदम आगे भी निकल चुकी है.

Advertisement
aajtak.in [Edited By: स्वाति गुप्ता]नई दिल्ली, 09 March 2016
सैलरी के मामले में पुरुषों से कई कदम आगे हैं भारतीय महिलाएं सैलरी के मामले में पुरुषों से आगे हैं महिलाएं

शहरी भारत में महिलाएं अब कमाई में न केवल पुरुषों के बराबर पहुंच रही हैं, बल्कि उनसे आगे भी निकलती दिख रही हैं. आइए जानते हैं क्या कहती है रिपोर्ट:

महिलाएं निकल रही हैं आगे
अंडमान निकोबार, चंडीगढ़, दादरा नगर हवेली, दिल्ली और पंजाब उत्तर भारत के वो 5 हिस्से हैं जहां महिलाओं को पुरुषों से ज्यादा सैलरी मिलती है. एक रिपोर्ट के मुताबिक कुल मिलाकर इन हिस्सों में पुरुषों की तुलना में महिलाओं का औसत वेतन 77 फीसदी है.

घट रहा है फासला
उत्तराखंड, राजस्थान, जम्मू कश्मीर, मणिपुर और गोवा, 5 ऐसे राज्य हैं जिनके शहरी इलाकों में महिला और पुरुष की तनख्वाह के बीच मामूली अंतर है.

सुपरमैन नहीं, सुपरवुमन
नागालैंड और सिक्किम देश के दो ऐसे इकलौते राज्य हैं, जिनके ग्रामीण इलाकों में शहरी इलाकों की तुलना में महिलाएं ज्यादा कमाती हैं. बता दें कि सिक्किम, नागालैंड, मिजोरम, आंध्र प्रदेश और उत्तराखंड 5 ऐसे राज्य हैं जहां ग्रामीण महिलाओं का वेतन सबसे ज्यादा है. इन 5 राज्यों में शहरी महिलाओं की तुलना में ग्रामीण महिलाओं का औसत वेतन 55 फीसदी है.

काफी कुछ करना है बाकी
पुड्डुचेरी, आंध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़, गुजरात और उड़ीसा देश के 5 ऐसे राज्य हैं जहां शहरी महिलाओं की तनख्वाह सबसे कम है.

सफर है लंबा
मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल, पुड्डुचेरी, कर्नाटक और दादरा नगर हवेली, 5 ऐसे राज्य हैं जिनके गांवो में महिलाओं का वेतन बहुत कम है.

सौजन्य : Newsflicks

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay