एडवांस्ड सर्च

Advertisement

कितने सुरक्षित हैं माइक्रोवेव सेफ कंटेनर्स!

कितने सुरक्षित हैं माइक्रोवेव सेफ कंटेनर्स!
aajtak.in [Edited By: अारती मिश्रा]नई दिल्‍ली, 21 April 2017

हम में से कई लोग माइक्रोवेव कंटेनर्स को 'सेफ' मार्क देखकर खरीद लेते हैं. चूंकि इनके बैक में सेफ मार्क होता है इसलिए हम निश्चिंत भी हो जाते हैं. हालांकि इन पर केवल यह लिखा होना ही सेफ होने की गारंटी नहीं है.

कंटेनर्स में कमी
माइक्रोवेव कंटेनर्स को प्रयोग के लिए मानकों पर खरा पाए जाने के बाद ही इनका प्रयोग करें. हालांकि विशेषज्ञ मानते हैं कि पतली प्‍लास्टिक बॉडी वाले कंटेनर्स सुरक्षित नहीं होते हैं चाहे उन पर सेफ का मार्क हो भी तो भी. कई अध्‍ययनों में सामने आया है कि इन कंटेनर्स से BPA यानी बिसेफनॉल A निकलता है और जब इन्‍हें गर्म किया जाता है तो वह भोजन में मिल जाता है. छोटी-छोटी मात्रा में BPA लेना काफी हानिकारक होता है और इसका असर लंबे समय तक बना रहता है. अब तो इसे बैन करने की मांग भी उठ रही है.

क्‍या है बेहतर
विशेष्‍ाज्ञ कहते हैं कि कई प्‍लास्टिक कंटेनर्स एक बार प्रयोग होने के बाद अगले प्रयोग के लिए ठीक से साफ नहीं होते. प्‍लास्टिक की कुछ मात्रा भोजन में मिलती ही है. साथ ही ऐसे कंटेनर्स, जिसमें डिटर्जेंट या पेंट आदि रखा गया हो उसे धोकर भोजन रखने के लिए कभी प्रयोग नहीं करना चाहिए.

बिना ओवन के बनाएं नानखटाई बिस्किट...

इन्‍हें करें इस्‍तेमाल
शीशे के मोटे बर्तनों को अोवन के लिए प्रयोग करें. अच्‍छे ग्‍लासवेयर में ही भोजन को फिर गर्म करें. डेकोरेटिव ग्‍लास प्‍लेट्स को प्रयोग करने से बचें. पेपर प्‍लेट को भोजन गर्म करने के लिए इस्‍तेमाल कर सकते हैं.

टैग्स

Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay