एडवांस्ड सर्च

इस शहर की महिलाओं में तेजी से बढ़ रहा है मोटापा, ऐसे बचें

केरल की 34 फीसदी विवाहित महिलाएं मोटापे की शिकार हैं, जो सबसे ज्यादा है.

Advertisement
aajtak.in [Edited by: नेहा फरहीन]नई दिल्ली, 22 July 2018
इस शहर की महिलाओं में तेजी से बढ़ रहा है मोटापा, ऐसे बचें प्रतीकात्मक फोटो

भारत में मोटापे की समस्या तेजी से लोगों को अपनी ग्रस्त में ले रही है. वर्ल्ड हेल्थ ऑरगेनाइजेशन (WHO) की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत के बाकी राज्यों के मुकाबले दक्षिण भारत के लोग 4 फीसदी ज्यादा मोटापे के शिकार हो रहे हैं.

नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे (NFHS) के मुताबिक, दक्षिण भारत में 18 से 49 वर्ष की विवाहित महिलाओं में मोटापे का स्तर एनएफएचएस-2 में 11 फीसदी से बढ़कर एनएफएचएस-3 में 15 फीसदी तक पहुंच गया है.

 महिलाओं में 5 फीसदी ज्यादा होता है इस बीमारी का खतरा, जानें वजह

इसके अलावा इस सर्वे में ये भी सामने आया है कि केरल की 34 फीसदी विवाहित महिलाएं मोटापे की शिकार हैं, जो सबसे ज्यादा है. वहीं तमिलनाडु की महिलाओं में 24.4 फीसदी, आंध्र प्रदेश की महिलाओं में 22.7 फीसदी और कर्नाटक की महिलाओं में 17.3 फीसदी मोटापा देखा गया है.

हेल्थ एक्सपर्ट का कहना है कि मोटापा एक जानलेवा बीमारी नहीं है. लेकिन यह कई गंभीर बीमारियों को न्योता देने का काम करता है, जिसमें डायबिटीज, हाइपरटेंशन, ब्रेस्ट कैंसर और डिस्लिपिडेमिया बीमारी प्रमुख हैं. इसलिए मोटापे से होने वाली गंभीर बीमारियों को दूर करने के लिए जरूरी है कि मोटापे से बचाव के लिए आवश्यक प्रयास करें.

बरसात के मौसम में होता है इस बीमारी का खतरा, ऐसे बचें

ये हैं मोटापे को दूर करने के उपाय

- रात को ग्रीन टी पीकर सोएं. इससे शरीर का मेटाबॉलिज्म बढ़ता है. साथ ही आप जो कुछ भी खाते हैं वो शरीर में फैट के रूप में जमा नहीं होता है.

- रात के खाने में हरी मिर्च का इस्तेमाल करें. इसमें मौजूद रासायनिक पदार्थ मोटापा कम करने में बहुत मददगार होते हैं.

- नींद और मोटापे के बीच बहुत गहरा संबंध है. अगर आप पर्याप्त नींद नहीं ले रहे हैं तो भी आपका वजन बढ़ सकता है. नींद हमारे हार्मोन्स को भी प्रभावित करती है. ऐसे में पर्याप्त नींद लेना बहुत जरूरी है.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay