एडवांस्ड सर्च

केदारनाथ से दर्शन कर लौट रही महिला के सिर में लगा पत्थर, रास्ते में हुई मौत

रामबाड़ा और लिनचोली के बीच पहाड़ी से आए पत्थर की चपेट में कुछ लोग आ गए. जिसमें पंजाब के कोटला से आई 29 वर्षीय प्रमिला की मौत हो गई.

Advertisement
दिलीप सिंह राठौर [Edited By: राहुल झारिया]देहरादून, 11 May 2019
केदारनाथ से दर्शन कर लौट रही महिला के सिर में लगा पत्थर, रास्ते में हुई मौत केदारनाथ में पहली बर्फबारी भी दर्ज की गई (फोटो-ANI)

उत्तराखंड के रामबाड़ा के करीब शनिवार को पहाड़ी के पत्थर लुढ़कने का हादसा हो गया. इस हादसे की चपेट में आने से एक महिला की मौत हो गई और दो पुरुष घायल हो गए. जानकारी के मुताब‍िक, सभी हताहत केदारनाथ से दर्शन कर वापस लौट रहे थे.

बताया जाता है कि शनिवार शाम 6 बजे के करीब रामबाड़ा और लिनचोली के बीच पहाड़ी से आए पत्थर की चपेट में कुछ लोग आ गए. जिसमें पंजाब के  कोटला से आई 29 वर्षीय प्रमिला की मौत हो गई. महिला केदारनाथ से दर्शन कर लौट रही थी. महिला की मौत सि‍र पर पत्थर लगने से हुई.  एसडीआरएफ टीम द्वारा महिला के शव को सोनप्रयाग लाया जा रहा है.

वहीं, चोटिल हुए दो श्रद्धालु चलने में असमर्थ हो चुके थे. उन्हें एसडीआरएफ टीम द्वारा रेस्क्यू  कर रामबाड़ा तक पहुंचाया गया है.

एक अन्य महिला श्रद्धालु खराब मौसम के चलते अपने परिवार से बिछड़ गई थी उसे भी  एसडीआारएफ टीम की मदद से उसके परिवार तक पहुंचाया गया है.

बता दें कि खराब मौसम और भारी बर्फबारी के कारण एसडीआरएफ की टीम को अलर्ट पर रखा गया है. केदारनाथ में हेलिकॉप्टर सेवाओं की वजह से ग्लेशियर के टूटने का खतरा मंडराने के चलते रिसर्च के लिए वैज्ञानिकों की टीम पहुंच चुकी है.

तीर्थयात्रा शुरू होने के बाद केदारनाथ में पहली बर्फबारी भी दर्ज की गई. अभी भी वहां हजारों श्रद्धालु मौजूद हैं.  केदारनाथ में दर्शन के लिए पहली बार टोकन की व्यवस्था की गई है. शुरुआती दो दिनों में ही करीब 11 हजार श्रद्धालु दर्शन कर चुके हैं.

सर्दियों में भारी हिमपात और भीषण ठंड की चपेट में रहने के कारण चार धाम के कपाट हर साल अक्टूबर-नवंबर में श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिए जाते हैं. जो अगले साल अप्रैल-मई में फिर खोल दिए जाते हैं.

इस साल अक्षय तृतीया के पावन पर्व पर मंगलवार को गंगोत्री और यमुनोत्री मंदिर के कपाट खुलने के साथ ही उत्तराखंड के उच्च हिमालयी क्षेत्र में स्थित चारधामों की यात्रा की शुरुआत हो चुकी है. केदारनाथ धाम के कपाट जहां 9 मई को खुले वहीं बद्रीनाथ मंदिर के कपाट 10 मई को खोले गए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay