एडवांस्ड सर्च

सेना के कैंपों पर हिमस्खलन का खतरा, उत्तराखंड में 48 घंटे के लिए अलर्ट जारी

मौसम विभाग का कहना है कि आने वाले 48 घंटे में उत्तराखंड और खास तौर पर सीमा से सटे हुए स्थानों के साथ ही सेना के कैंपों को भी सतर्क रहने की जरूरत है, क्योंकि एक बार फिर बारिश और बर्फबारी उत्तराखंड में दस्तक देने जा रही है.

Advertisement
aajtak.in
दिलीप सिंह राठौड़ देहरादून, 15 January 2020
सेना के कैंपों पर हिमस्खलन का खतरा, उत्तराखंड में 48 घंटे के लिए अलर्ट जारी उत्तराखंड में बर्फ (फोटो-आईएएनएस)

  • उत्तराखंड में भारी बारिश और बर्फबारी का अलर्ट
  • सीमा पर आर्मी कैंप को सतर्क रहने के लिए कहा

मौसम विभाग ने एक बार फिर से उत्तराखंड में अगले 48 घंटे के लिए अलर्ट जारी किया है. मौसम विभाग के मुताबिक सीमा से सटे ऊंचाई वाले इलाकों में पहले तेज बारिश और फिर भारी बर्फबारी की भी संभावना है. तेज बारिश की वजह से पहले से जमी बर्फ तेजी से पिघल सकती है और हिमस्खलन जैसी स्थिति बन सकती है. मौसम विभाग ने सीमा पर आर्मी कैंप के साथ ही वहां के इलाकों में रहने वाले लोगों को सतर्क रहने के लिए कहा है.

इसे भी पढ़ें- पहाड़ी क्षेत्रों में भारी बर्फबारी से बढ़ी आफत, हिमाचल में 5 NH सहित 609 सड़कें बंद

देश की अलग-अलग सीमाओं पर भारी बर्फबारी हो रही है. ऐसे में सेना को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. कई स्थानों पर हिमस्खलन ने लोगों की जान तक ले ली तो कई सैनिक भी इसकी चपेट में आकर शहीद हो गए हैं. बात सियाचिन की हो या जम्मू कश्मीर सीमा की, सभी जगह बर्फबारी ने सेना से लेकर आम लोगों को भी मुश्किल में डाल रखा है. ऐसे में उत्तराखंड में मौसम विभाग ने यहां भी सेना को सतर्क रहने को कहा है.

सेना के कैंपों को सतर्क रहने की जरूरत

मौसम विभाग का कहना है कि आने वाले 48 घंटे में उत्तराखंड और खास तौर पर सीमा से सटे हुए स्थानों के साथ ही सेना के कैंपों को भी सतर्क रहने की जरूरत है क्योंकि एक बार फिर बारिश और बर्फबारी उत्तराखंड में दस्तक देने जा रही है. मौसम विभाग ने साफतौर पर कहा है कि 16 और 17 तारिख को ऊंचाई वाले स्थानों में भारी बारिश हो सकती है. साथ ही मौसम विभाग ने आने वाले 48 घंटे के लिए पहले भारी बारिश और फिर बर्फबारी का अलर्ट जारी किया है.

मौसम विभाग की चेतावनी के बाद उत्तराखंड का आपदा विभाग भी सतर्क हो गया है. विशेष रूप से राष्ट्रीय आपदा अनुक्रिया बल (एसडीआरएफ) की अनेक टीमों को उन स्थानों पर भेजा जा रहा है, जहां इस तरह की संभावना ज्यादा है. मौसम विभाग की चेतावनी के बाद एसडीआरएफ को भी हाई अलर्ट पर रखा गया है. जिससे सूचना मिलते ही तुरंत रेस्क्यू ऑपरेशन को अंजाम दिया जा सके. वहीं पर्वतीय इलाकों की टीमों को अलर्ट पर रखा गया है. जिससे किसी भी विपरीत परिस्थितियों से तुरंत निपटा जा सके. सूचना मिलने पर नजदीकी टीम को जल्द रेस्क्यू ऑपरेशन करने को कहा गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay