एडवांस्ड सर्च

उत्तराखंड: IFS अफसर की रिपोर्ट पॉजिटिव, 2 अस्पताल से डिस्चार्ज, 5 का इलाज जारी

प्रदेश में 3 आईएफएस अधिकारी कोरोना से पीड़ित बताए जा रहे हैं. रविवार को तीसरे आईएफएस अधिकारी की पांचवीं रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. हालांकि इससे पहले की सभी रिपोर्ट इलाज के दौरान नेगेटिव आई थीं.

Advertisement
aajtak.in
दिलीप सिंह राठौड़ देहरादून, 30 March 2020
उत्तराखंड: IFS अफसर की रिपोर्ट पॉजिटिव, 2 अस्पताल से डिस्चार्ज, 5 का इलाज जारी प्रदेश में कुल 5 कोरोना पॉजिटिव मरीजों का इलाज चल रहा है (PTI)

  • प्रदेश में कुल 7 मरीज, 2 डिस्चार्ज
  • 5 कोरोना मरीज का इलाज जारी

उत्तराखंड में लॉकडाउन के बावजूद कोरोना वायरस के मामले बढ़ते दिख रहे हैं. यहां मामला अन्य राज्यों से इसलिए अलग है क्योंकि कुछ अधिकारियों में इस बीमारी के लक्षण देखे गए हैं. कुछ आईएफएस अधिकारी इस बीमारी की चपेट में आए हैं, जिनका लगातार टेस्ट चल रहा है. प्रदेश में कुल 7 मरीज पाए गए हैं, जिनमें 2 को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है जबकि 5 का इलाज चल रहा है. ये पांचों लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं.

दरअसल, प्रदेश में 3 आईएफएस अधिकारी कोरोना से पीड़ित बताए जा रहे हैं. रविवार को तीसरे आईएफएस अधिकारी की पांचवीं रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. हालांकि इससे पहले की सभी रिपोर्ट इलाज के दौरान नेगेटिव आई थीं. बता दें, स्पेन और फिनलैंड की यात्रा कर लौटे आईएफएस अधिकारी की शुरुआती टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद देहरादून में इलाज चल रहा था. अच्छी बात यह है कि यहां 2 आईएफएस अधिकारी ठीक होकर अस्पताल से डिस्चार्ज हो चुके हैं.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

जिन आईएफएस अधिकारियों का इलाज चल रहा है वे ट्रेनी हैं और इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वन अकादमी में तैनात हैं. इन तीन लोगों के अलावा एक अमेरिकी नागरिक और स्पेन से लौटे एक कोटद्वार के युवक में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई थी. इसके साथ ही शनिवार को भी एक युवक इस बीमारी की चपेट में बताया गया जो दुबई की यात्रा कर लौटा है. सातवां मामला देहरादून के एक युवक का है, जिसमें कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है. इन सात लोगों में 2 को अस्पताल से डिस्चार्ज किया जा चुका है जबकि 5 का इलाज जारी है.

पूरे देश में कोरोना वायरस की स्थिति की बात करें तो अभी 1139 मरीज हैं जबकि 30 लोगों की मौत हो चुकी है. सबसे ज्यादा गंभीर हालत केरल और महाराष्ट्र में है. यहां मरीजों की तादाद लगातार बढ़ती जा रही है. इन दोनों राज्यों में कोरोना पीड़ितों की संख्या 200 से ज्यादा है. केरल में 20 नए मामलों में से 18 विदेश से लौटे लोग हैं. उधर दिल्ली की हालत भी अच्छी नहीं कही जा सकती क्योंकि यहां भी कोरोना के मरीज लगातार बढ़ते जा रहे हैं.

रविवार को एक दिन में यहां 23 नए मामले सामने आने के बाद प्रशासन में हड़कंप मच गया. इन 23 मरीजों में से 17 मरीज राम मनोहर लोहिया अस्पताल (आरएमएल) में भर्ती हैं. इन लोगों में 4 मरीज ऐसे हैं, जो विदेश से आए हैं जबकि 2 को संक्रमित व्यक्ति से बीमारी फैली है. दिल्ली में अब तक कोरोना के 72 मामले सामने आ चुके हैं. 369 सैंपल की रिपोर्ट आना बाकी है जिस पर सबकी निगाहें लगी हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay