एडवांस्ड सर्च

उत्तराखंड: वाहन नहीं मिला तो पुलिस अपनी गाड़ी से महिलाओं को पहुंचाएगी घर

देहरादून पुलिस ने वाहन न मिलने की सूचना देने पर रात के समय अकेली महिलाओं को थाने की गाड़ी से घर तक सुरक्षित पहुंचाने की घोषणा की है. उत्तराखंड पुलिस ने हेल्पलाइन नंबर 112 की शुरुआत की है.

Advertisement
aajtak.in
दिलीप सिंह राठौड़ देहरादून, 10 December 2019
उत्तराखंड: वाहन नहीं मिला तो पुलिस अपनी गाड़ी से महिलाओं को पहुंचाएगी घर प्रतीकात्मक तस्वीर

  • देहरादून पुलिस ने शुरू किया टोल फ्री नंबर
  • महिला से क्षेत्राधिकारी, थाना प्रभारी लेंगे प्रतिक्रिया

देश में महिलाओं के साथ बढ़ते अपराध और रेप की घटनाओं को लेकर आक्रोश है. महिलाओं में अपनी सुरक्षा को लेकर चिंता है. महिलाओं की सुरक्षा को लेकर पूरे देश में बहस छिड़ी है. सरकारों पर सवाल उठ रहे हैं. इन सबके बीच उत्तर प्रदेश के बाद महिलाओं की सुरक्षा को लेकर उत्तराखंड की राजधानी देहरादून की पुलिस ने एक अनोखी पहल की है.

देहरादून पुलिस ने वाहन न मिलने की सूचना देने पर रात के समय अकेली महिलाओं को थाने की गाड़ी से घर तक सुरक्षित पहुंचाने की घोषणा की है. उत्तराखंड पुलिस ने हेल्पलाइन नंबर 112 की शुरुआत की है. जिसपर कोई भी महिला फोन कर शिकायत कर सकती है. रात के समय अकेले होने या वाहन न मिलने की स्थिति में भी महिलाएं इस नंबर पर फोन करेंगी तो उन्हें पुलिस की पीसीआर वैन सुरक्षित घर तक पहुंचाएगी.

देहरादून के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने इस नई सेवा की शुरुआत की. इस नंबर पर फोन करने के बाद नजदीकी थाने या पुलिस चौकी को सूचना दी जाएगी और महिलाओं को सुरक्षित घर पहुंचाना सुनिश्चित किया जाएगा. यदि इस तरह की सूचना दिन के समय प्राप्त होती है तो पुलिस महिलाओं के लिए पब्लिक ट्रांसपोर्ट की सुविधा सुनिश्चित करेगी.

कंट्रोल रूम के प्रभारी को निर्देश दिया गया है कि इस संबंध में  प्राप्त हाने वाली फोन कॉल और सूचनाओं से क्षेत्राधिकारी, थाना प्रभारी को तत्काल अवगत करें.साथ ही इनका तत्काल निस्तारण सुनिश्चित कराते हुए संबंधित कॉलर से पुलिस की ओर से उपलब्ध कराई गई सहायता के संबंध में प्रतिक्रिया भी लें.

बता दें कि हैदराबाद में रात के समय स्कूटी पंक्चर होने के बाद सहायता के नाम पर चार आरोपियों ने महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया था. इस घटना के बाद पूरे देश में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर आक्रोश था. उत्तराखंड में कई स्थानों पर महिलाओं ने प्रदर्शन किया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay