एडवांस्ड सर्च

उत्तराखंड: BJP प्रदेश अध्यक्ष पद पर बंशीधर भगत की हुई ताजपोशी

भारतीय जनता पार्टी ने बंशीधर भगत को उत्तराखंड का नया प्रदेश अध्यक्ष बनाया है. भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत छठवीं बार विधायक हैं.

Advertisement
aajtak.in
दिलीप सिंह राठौड़ देहरादून, 17 January 2020
उत्तराखंड: BJP प्रदेश अध्यक्ष पद पर बंशीधर भगत की हुई ताजपोशी बंशीधर भगत को बधाई देते उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत

  • राम मंदिर आंदोलन में गए थे जेल
  • 6 बार से विधायक हैं बंशीधर भगत

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने बंशीधर भगत को उत्तराखंड का नया प्रदेश अध्यक्ष बनाया है. दरअसल, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट के सांसद बनने के बाद से यह पद खाली था. गुरुवार को देहरादून के प्रदेश कार्यालय में सभी पदाधिकारियों सहित संगठन से जुड़े लोगों ने सर्वसम्मति से प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए कालाढूंगी विधायक बंशीधर भगत के नाम पर मुहर लगा दी.

इस चुनावी प्रक्रिया के दौरान प्रदेश मुख्यालय में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के अलावा पूर्व अध्यक्ष अजय भट्ट और प्रांतीय पदाधिकारी, प्रदेश परिषद सदस्य और जिला अध्यक्ष मौजूद रहे, जहां सर्वसम्मति से नए प्रदेश अध्यक्ष के नाम पर मुहर लगी. भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत छठवीं बार विधायक हैं.

कौन हैं बंशीधर भगत

बंशीधर भगत साल 1975 में जनसंघ पार्टी से जुड़े. इसके बाद उन्होंने किसान संघर्ष समिति बनाकर राजनीति में प्रवेश किया. राम जन्म भूमि आंदोलन में वह 23 दिन अल्मोड़ा जेल में रहे. साल 1989 में उन्होंने नैनीताल-ऊधमसिंह नगर के जिला अध्यक्ष का पद संभाला. साल 1991 में वह पहली बार उत्तर प्रदेश विधानसभा में नैनीताल से विधायक बने. फिर 1993 व 1996 में नैनीताल के विधायक बने.

कई सरकारों में रहे मंत्री

इस दौरान बंशीधर भगत को उत्तर प्रदेश सरकार में खाद्य एवं रसद राज्यमंत्री, पर्वतीय विकास मंत्री, वन राज्य मंत्री का कार्यभार मिला. साल 2000 में राज्य गठन के बाद वह उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री रहे. वर्ष 2007 में हल्द्वानी विधानसभा वह चौथी बार विधायक बने. उत्तराखंड सरकार में उन्हें वन और परिवहन मंत्री बनाया गया. इसके बाद 2012 में परिसिमन के बाद कालाढूंगी विधानसभा से वे पांचवी बार जीते, फिर साल 2017 में इसी सीट से छठीं जीत दर्ज की.

आगामी चुनाव होगी बड़ी चुनौती

बंशीधर भगत के जरिए गढ़वाल और कुमाऊं के समीकरण साधने की भी कोशिश की गई. उनके सामने आने वाले विधानसभा चुनाव में बीजेपी की जीत से लेकर संगठन को एकजुट रखने की जिम्मेदारी होगी. नई जिम्मेदारी मिलने पर प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने कहा कि उनका प्रयास बीजेपी को प्रदेश में मजबूत करना और मुख्य रूप से पार्टी को 2022 में विधानसभा चुनाव में प्रचंड बहुमत से जीत दिलाने की होगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay