एडवांस्ड सर्च

जहरीली शराब बेचने वालों को सलाखों के पीछे देखना है: त्रिवेन्द्र सिंह रावत

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि जहरीली शराब पीने से 7 लोगों की मौत के मामले में जिस व्यक्ति का मुख्य अभियुक्त के तौर पर नाम आ रहा है, उसे जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए.

Advertisement
aajtak.in
दिलीप सिंह राठौड़ देहरादून, 23 September 2019
जहरीली शराब बेचने वालों को सलाखों के पीछे देखना है: त्रिवेन्द्र सिंह रावत  उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत

  • देहरादून में हुई थी जहरीली शराब पीने से 7 लोगों की मृत्यु
  • अवैध शराब का व्यापार करने वालों के खिलाफ एक्शन का आदेश

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गृह, आबकारी और पुलिस विभाग के अधिकारियों को तलब किया. देहरादून में हुई जहरीली शराब की घटना में 7 लोगों की मृत्यु हो जाने के बाद रविवार को त्रिवेन्द्र सिंह रावत किसी भी हाल में इसमें शामिल लोगों को गिरफ्तार करने के आदेश दिए. मुख्यमंत्री ने साफ लहजे में अधिकारियों को डपटते हुए कहा, 'चाहे मुजरिम पाताल में हो, धरती पे हो या आसमान में, हर हाल में मुझे वो सलाखों के पीछे चाहिए.'

किसी का भी संरक्षण हो बख्शना नहीं है- मुख्यमंत्री

कई दिनों से उत्तराखंड से बाहर रहने के बाद त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि इस पूरे मामले में जिस व्यक्ति का मुख्य अभियुक्त के तौर पर नाम आ रहा है, उसे जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए. वह आदमी चाहे धरती पर हो, आसमान में हो या पाताल में हो, हर हाल में पकड़ा जाना चाहिए. मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर किसी के संरक्षण की बात पाई जाती है, तो इसे बर्दाश्त किसी भी हाल में नहीं करूंगा, फिर चाहे वो कोई भी हो, पूरे घटनाक्रम की गहराई से जांच की जाए.

'हमारी एजेंसी को पता न हो पहले से ये संभव नहीं'- मुख्यमंत्री

सख्त नाराजगी जताते हुए त्रिवेन्द्र सिंह ने कहा कि शहर के बीचों-बीच कुछ चल रहा हो और हमारी एजेंसियों को पता न चले, कैसे हो सकता है. घटना के हर पहलू की बारीकी से जांच की जाए. इसमें जो भी दोषी या जिम्मेदार पाया जाएगा उस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे प्रदेश में पुलिस और आबकारी विभाग अवैध शराब की छापेमारी के अभियान चलाए. इसमें जिन लोगों की भी मिलीभगत हो, उन्हें पकड़ा जाए और सख्त से सख्त एक्शन लिया जाए.

मुख्यमंत्री ने महकमे के अधिकारियों से कहा कि अगर अवैध शराब का व्यापार करने वालों के खिलाफ कार्रवाई हो और सख्त करने के लिए आबकारी एक्ट में किसी प्रकार के संशोधन की जरूरत हो तो उसका प्रस्ताव तैयार करें. अवैध शराब या नशे के व्यापार को रोकने में आम जनता का भी सहयोग लिया जाए. कहीं से भी इस प्रकार की कोई शिकायत आती है तो उसे पूरी गम्भीरता से लिया जाए.

'हो सकती है जल्द ही गिरफ्तारी'- मुख्यमंत्री

प्रदेश के पुलिस महानिदेशक कानून व अपराध अशोक कुमार ने भी साफ कर दिया है कि किसी भी हाल में किसी भी अपराधी को बख्शा नहीं जाएगा चाहे वो कोई भी हो, शहर के बीचों-बीच इस तरह का अपराध हुआ है ऐसे में सख्त निर्देश दिए गए हैं. ऐसी घटना की पुनरावृत्ति न हो इसके लिए भी संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं.

सिर्फ यही नहीं सभी 13 जिलों के पुलिस कप्तानों को किसी भी अपराध से निपटने के सख्त आदेश दे दिए गए हैं. अशोक कुमार ने खुद ही इस पर नजर बनाये रखी है. ऐसे में जल्द ही 7 लोगों के हत्यारों का जेल जाना तय माना जा रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay