एडवांस्ड सर्च

'AICTE के सभी इंजीनियरिंग संस्थानों के लिए एक प्रवेश परीक्षा'

सरकार द्वारा नियुक्त एक पैनल ने AICTE के तहत आने वाले सभी इंजीनियरिंग संस्थानों के लिए एक प्रवेश परीक्षा और सभी बिजनेस स्कूलों के लिए एक साझा परीक्षा लेने की सिफारिश की है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in [Edited By: ऋचा मिश्रा]नई दिल्‍ली, 09 August 2015
'AICTE के सभी इंजीनियरिंग संस्थानों के लिए एक प्रवेश परीक्षा' Examination

सरकार द्वारा नियुक्त एक पैनल ने AICTE के तहत आने वाले सभी इंजीनियरिंग संस्थानों के लिए एक प्रवेश परीक्षा और सभी बिजनेस स्कूलों के लिए एक साझा परीक्षा लेने की सिफारिश की है.

पैनल ने यह भी सिफारिश की है कि काउंसलिंग सत्रों के पूरा होने के बाद खाली पड़ी सीटों को प्रबंधन कोटा की सीटें न माना जाए बल्कि उनका उपयोग प्रतीक्षा सूची वाले छात्रों के लिए किया जाए.

इस पैनल ने परीक्षा के संचालन के लिए एक राष्ट्रीय परीक्षा सेवा की स्थापना करने की सिफारिश करते हुए प्रस्ताव दिया है कि यह एक स्वतंत्र निकाय होना चाहिए. वर्तमान में इंजीनियरिंग और मैनेजमेंट के 11,000 से अधिक संस्थान अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (AICTE) के दायरे में आते हैं.

पैनल ने सिफारिश की है एक राष्ट्रीय परीक्षा सेवा होनी चाहिए जो इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा और  प्रबंधन पाठ्यक्रमों के लिए एक साझा प्रवेश परीक्षा कराये.

इन परीक्षाओं के नतीजों का वे सभी संस्थान उपयोग करेंगे जिसका संचालन विश्वविद्यालयों, डीम्ड विश्वविद्यालयों, राज्य सरकारों द्वारा संचालित विश्वविद्यालयों या निजी विश्वविद्यालयों द्वारा किया जाता है.

एआईसीटीई की समीक्षा समिति की रिपोर्ट में कहा गया है काउंसलिंग सत्रों के पूरा होने के बाद रिक्त हुई सीटों को प्रबंधन कोटा की सीटें नहीं समझा जाना चाहिए बल्कि इन सीटों का उपयोग उन छात्रों के लिए किया जाना चाहिए जो इन परीक्षाओं के लिए प्रतीक्षा सूची में इंतजार करते हैं. सरकार ने इन सिफारिशों पर सभी पक्षों की राय मांगी है.

इनपुट: भाषा

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay