एडवांस्ड सर्च

देहरादून से 190 कश्मीरियों को वापस भेजा, छात्र बोले- नेता जबरदस्ती ले गए

रातो-रात कई कॉलेजों के छात्रों को देहरादून से कश्मीर ले जाने के मामले में अब राजनीतिक रंग भी दिखने लगे हैं. सूत्रों का कहना है कि कई छात्र परीक्षा होने के चलते कश्मीर जाने को तैयार नहीं थे. बावजूद इसके पीडीपी नेता सभी छात्रों को बसों में लेकर कश्मीर रवाना हो गए हैं.

Advertisement
दिलीप सिंह [ Edited By: आदित्य बिड़वई ]देहरादून, 20 February 2019
देहरादून से 190 कश्मीरियों को वापस भेजा, छात्र बोले- नेता जबरदस्ती ले गए प्रतीकात्मक फोटो.

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सेना पर हुए आत्मघाती हमले के बाद देशभर में पढ़ रहे कश्मीरी छात्र खौफ में जी रहे हैं. कई राज्यों में उन पर हमले हुए हैं तो कुछ नेता अपनी राजनीति चमकाने के लिए उन्हें डरा धमका रहे हैं. इस तनाव भरे माहौल के बीच देहरादून में पढ़ने वाले 190 कश्मीरी छात्र-छात्राओं को कश्मीर रवाना किया गया.

दरअसल, मंगलवार रात कश्मीर से पीडीपी नेताओं के साथ दो बसों में करीब 110 छात्र-छात्राओं को कश्मीर के लिए ले जाया गया. वहीं, करीब 80 छात्र मंगलवार दोपहर कश्मीर के लिए रवाना हुए.  

मंगलवार को राजधानी में पीडीपी के नेता पहुंचे. जिनमें पीडीपी के राज्यसभा सांसद फैयाज अहमद मीर, पूर्व सांसद एजाज अहमद मीर मौजूद थे. हालांकि, मंगलवार दोपहर पीडीपी सांसद फैयाज अहमद मीर ने कहा था कि वह देहरादून में छात्र-छात्राओं का हालचाल जानने पहुंचे हैं और उन्हें नहीं लगता कि देहरादून में किसी तरह की कोई दिक्कत है.

छात्र जाने को तैयार नहीं फिर भी ले जा रहे हैं नेता...

रातो-रात कई कॉलेजों के छात्रों को देहरादून से कश्मीर ले जाने के मामले में अब राजनीतिक रंग भी दिखने लगे हैं. सूत्रों का कहना है कि कई छात्र परीक्षा होने के चलते कश्मीर जाने को तैयार नहीं थे. बावजूद इसके पीडीपी नेता सभी छात्रों को बसों में लेकर कश्मीर रवाना हो गए हैं.

गौरतलब है कि कश्मीर पुलवामा हादसे के बाद पूरे देश में बड़े पैमाने पर कश्मीरी छात्र छात्राओं का विरोध हो रहा है. देहरादून में कुछ कश्मीरी छात्रों द्वारा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर देश विरोधी पोस्ट डालने को लेकर देहरादून में हंगामा मचा हुआ है. हालांकि, उत्तराखंड पुलिस ने लगातार कश्मीरी छात्र छात्राओं से मुलाकात कर उन्हें देहरादून में पूरी सुरक्षा मुहैया कराने की बात कही थी जो पूरी तरह कारगर भी साबित हुई.

उत्तराखंड पुलिस ने हर कॉलेज को सुरक्षा के दायरे में लेकर जबरदस्त फोर्स तैनात कर दी जिससे किसी भी हाल में कश्मीरी छात्र और छात्रएं अपने आपको सुरक्षित महसूस कर सकें. जिसके बाद ऐसा हुआ भी कश्मीरी छात्राओं का एक वीडियो भी सामने आया जिसमें छात्राओं ने देहरादून में किसी भी तरह की दिक्कत होने से इनकार किया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay