एडवांस्ड सर्च

निजामुद्दीन मामले के बाद उत्तराखंड पुलिस सख्त, 30 लोगों पर मुकदमा दर्ज

अचानक तेजी से फैलते कोरोना संक्रमण पर उत्तराखंड पुलिस न केवल चिंतित है बल्कि बेहद सख्त रुख भी अख्तियार कर चुकी है.

Advertisement
aajtak.in
दिलीप सिंह राठौड़ देहरादून, 04 April 2020
निजामुद्दीन मामले के बाद उत्तराखंड पुलिस सख्त, 30 लोगों पर मुकदमा दर्ज देश में बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामले (फोटो-पीटीआई)

  • देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामले
  • देश में 2500 से ज्यादा लोग कोरोना वायरस से संक्रमित

देश में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा देश में 2500 के पार पहुंच गया है. कोरोना के बढ़ते मामले राज्य सरकारों के लिए भी चिंता का कारण बने हुए हैं. वहीं कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर पुलिस भी चिंतित है.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

अचानक तेजी से फैलते कोरोना संक्रमण पर उत्तराखंड पुलिस न केवल चिंतित है बल्कि बेहद सख्त रुख भी अख्तियार कर चुकी है. लगातार बढ़ते कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या को देख उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक ने खुद ही कमान संभाल ली है. साथ ही पुलिस महानिदेशक ने बताया कि कुछ लोग निजामुद्दीन की घटना के बाद चोरी छिपे आए हैं, जिनमें से 30 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया है.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें...

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस से बचाव है जरूरी, इस एक आदत से रहें बिल्कुल दूर

आजतक से विशेष बात करते हुए पुलिस महानिदेशक कानून-व्यवस्था अशोक कुमार ने कहा है कि पुलिस चिंतित है और अब बेहद सख्त कदम उठाने को मजबूर भी है. सभी कप्तानों को सख्त निर्देश दे दिए गए हैं कि किसी भी हाल में कोई भी छूटना नहीं चाहिए. सभी का पूरी तरह से चेकअप हो और जरा भी कोरोना के लक्षण नजर आएं तो तुरंत आगे की कार्यवाही की जाए, जिसके लिए स्वास्थ्य महकमा लगातार पुलिस टीम के साथ काम कर रहा है.

मुकदमा किया दर्ज

अशोक कुमार ने कहा कि तबलीगी जमात या उससे जुड़े लोग खुद आगे आएं. सभी का समुचित इलाज किया जाएगा. अशोक कुमार ने बताया कि पुलिस ने सभी जमातियों को पूरी तरह से ट्रैक कर लिया है. कुछ लोग हाल ही में निजामुद्दीन की घटना के बाद चोरी छिपे आए हैं और उनमें से 30 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया है.

यह भी पढ़ें: कोरोना वायरस आम सर्दी-जुकाम से कितना अलग? ये होते हैं लक्षण

अशोक कुमार का कहना है कि हमारे लिए ये गंभीर बात है कि इससे पहले जो भी केस हुए वो विदेशी ट्रैवल हिस्ट्री के बाद के हैं. जमात के लोग पहले ऐसे लोग हैं जो बिना ट्रैवल हिस्ट्री के भी पॉजिटिव पाए गए हैं. वहीं हंगामा करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी.

क्या है मामला?

बता दें कि दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के मरकज में एक कार्यक्रम आयोजित हुआ था. उस कार्यक्रम में शामिल हुए कुछ लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं. जिसके बाद से देश में तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल लोगों को खोजा जा रहा है और उनकी जांच की जा रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay