एडवांस्ड सर्च

लॉकडाउन में प्रदर्शन करने पर पूर्व कांग्रेस विधायक समेत 13 लोगों के खिलाफ केस दर्ज

पूर्व विधायक और उत्तराखंड कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह ने पुलिस पर राजनीति विद्वेष के चलते बदले की भावना से मुकदमा दर्ज करने का आरोप लगाया है.

Advertisement
aajtak.in
पंकज श्रीवास्तव प्रयागराज, 23 May 2020
लॉकडाउन में प्रदर्शन करने पर पूर्व कांग्रेस विधायक समेत 13 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कोरोना महामारी अधिनियम के तहत कर्नलगंज थाने में मुकदमा दर्ज

  • लॉकडाउन उल्लंघन के तहत दर्ज हुआ मुकदमा
  • कर्नलगंज थाना पुलिस ने दर्ज की एफआईआर

योगी सरकार का विरोध कर रहे कांग्रेस के पूर्व विधायक और उत्तराखंड कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह समेत उनके 13 समर्थकों और अन्य अज्ञात लोगों के खिलाफ पुलिस ने प्रयागराज में लॉकडाउन उल्लंघन के आरोप में मुकदमा दर्ज कर लिया है. पूर्व विधायक और उनके साथियों पर कोरोना महामारी अधिनियम के तहत कर्नलगंज थाने में मुकदमा दर्ज किया गया.

अनुग्रह नारायण सिंह अपने समर्थकों के साथ उपश्रमायुक्त के कार्यालय पर बगैर अनुमति के विरोध प्रदर्शन कर रहे थे. पुलिस ने उन पर आरोप लगाया है कि धारा 144 लागू होने के बावजूद उन्होंने ऑल इंडिया सेंट्रल काउंसिल ऑफ ट्रेड यूनियन के मजदूर नेताओं के साथ उपश्रमायुक्त के कार्यालय पर नारेबाजी की और प्रदर्शन किया.

कोरोना पर फुल कवरेज के लि‍ए यहां क्ल‍िक करें

पुलिस ने बताया कि इस प्रदर्शन से लॉकडाउन और कोरोना महामारी की गाइडलाइन का घोर उल्लंघन हुआ है. कर्नलगंज थाना पुलिस ने लॉकडाउन में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न करने और धारा 144 का उल्लंघन कर नारेबाजी करने के आरोप में आईपीसी की धारा 188 और 269/270 के तहत मुकदमा दर्ज किया है. यही नहीं, पुलिस ने मजदूर नेता डॉक्टर कमल उसरी और सुभाष पांडेय के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया है.

वहीं, पूर्व विधायक और उत्तराखंड कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी अनुग्रह नारायण सिंह ने पुलिस पर राजनीति विद्वेष के चलते बदले की भावना से मुकदमा दर्ज करने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा, 'सरकार की मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ ट्रेड यूनियनों का 22 मई को देशव्यापी हल्लाबोल का पहले से ही ऐलान किया गया था. जिसको लेकर कांग्रेस के मजदूर संगठन इंटेक की ओर से विरोध प्रदर्शन में शामिल हुआ था.'

देश-दुनिया के किस हिस्से में कितना है कोरोना का कहर? यहां क्लिक कर देखें

अनुग्रह नारायण सिंह ने कहा है, 'सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए उपश्रमायुक्त कार्यालय पर नारेबाजी कर पोस्टर बैनर के साथ प्रदर्शन किया गया था. इसके साथ ही उपश्रमायुक्त को ज्ञापन भी सौंपा गया लेकिन मजदूरों को बसों से उनके घर भेजने के लिए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की ओर से उठाये गए कदम से बौखलायी सरकार ने मुकदमा दर्ज कर लिया है.'

दूसरी ओर एसएसपी सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज का कहना है कि जिले में धारा 144 प्रभावी है. जिसके उल्लंघन पर मुकदमा दर्ज करने की कार्रवाई की गई है. उनके मुताबिक मामले की विवेचना हो रही है, ऐसे मे विवेचना में आने वाले तथ्यों के आधार पर पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay