एडवांस्ड सर्च

Advertisement

रंगदारी मांगने पर फंसा अमरमणि का बेटा

मधुमिता हत्याकांड में सजा काट रहे पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी के बेटे अमनमणि रंगदारी मांगने के मामले में फंस गए हैं. अमनमणि पर गोरखपुर के ठेकेदार ऋषि कुमार पांडे का अपहरण कर एक लाख रुपये की रंगदारी मांगने का आरोप है.
रंगदारी मांगने पर फंसा अमरमणि का बेटा Symbolic Image
आशीष मिश्र [Edited By: स्‍वपनल सोनल]लखनऊ, 07 August 2014

मधुमिता हत्याकांड में सजा काट रहे पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी के बेटे अमनमणि रंगदारी मांगने के मामले में फंस गए हैं. अमनमणि पर गोरखपुर के ठेकेदार ऋषि कुमार पांडे का अपहरण कर एक लाख रुपये की रंगदारी मांगने का आरोप है.

ठेकेदारी और ट्रेवलिंग का काम करने वाले ऋषि गोरखपुर के अधियारी बाग उत्तरी मुहल्ला में रहते हैं. अपनी बीमार पत्नी का इलाज कराने के लिए वह मंगलवार शाम करीब पांच बजे गोरखपुर से अपनी स्कॉर्पियो कार से लखनऊ होते हुए दिल्ली के लिए रवाना हुए. उनके साथ बहू प्रियंका, किरायेदार संजय और ड्राइवर प्रताप भी था. बताया जाता है कि रात करीब एक बजे लखनऊ में आवास-विकास मुख्यालय के पास अचानक एक स्कार्पियो और फॉर्च्यूनर कार ने ओवरटेक कर उनकी गाड़ी रुकवा ली.

आरोप है कि कार से अमनमणि अपने तीन-चार साथियों के साथ गाड़ी से उतरें और अपशब्द कहने लगें. उनके पास दो पिस्टल थीं. उन लोगों ने बहू से अभद्रता की और किरायेदार और ड्राइवर को मौके पर पीटा. पांडे ने बताया कि अमनमणि उन्हें जबरदस्ती अपनी गाड़ी में बिठाकर हजरतगंज स्थित एक मकान में ले गए और बंदूक तानकार दो दिन के अंदर एक लाख रुपये रंगदारी की मांग की.

पांडे के मुताबिक, उन्हें दो गाड़ि‍यों में बदल-बदलकर बैठाया गया और शहर भर में घुमाया गया. इस बीच बहू ने कंट्रोल रूम फोन कर दिया, जिससे पुलिस हरकत में आ गई. जानकारी होने पर अमनमणि पांडे को वीवीआईपी गेस्ट हाउस के सामने फेंककर भाग निकला. उसने रंगदारी न देने पर जान से मारने की धमकी भी दी. पांडे ने कैंट थाने में अमनमणि, रवि और एक अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कराया है.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay