एडवांस्ड सर्च

यूपी: मुसलमानों को रिझाने के लिए उर्दू में बीजेपी का बुकलेट

उत्तर प्रदेश में मुसलमानों को रिझाने और नरेंद्र मोदी सरकार के एक साल के कामकाज को भुनाने के लिए बीजेपी ने नया तरीका अपनाया है. इसके लिए पार्टी महासंपर्क अभियान के तहत मुस्लिम समुदाय तक अपनी पहुंच बनाएगी. खास बात यह कि इसके लिए पार्टी ने उर्दू में बुकलेट छपवाएं हैं, जिसमें सरकार उपलब्धियों का बखान है.

Advertisement
aajtak.in [Edited By: स्वपनल सोनल]नई दिल्ली, 01 June 2015
यूपी: मुसलमानों को रिझाने के लिए उर्दू में बीजेपी का बुकलेट उर्दू में बीजेपी का बुकलेट

उत्तर प्रदेश में मुसलमानों को रिझाने और नरेंद्र मोदी सरकार के एक साल के कामकाज को भुनाने के लिए बीजेपी ने नया तरीका अपनाया है. इसके लिए पार्टी महासंपर्क अभियान के तहत मुस्लिम समुदाय तक अपनी पहुंच बनाएगी. खास बात यह कि इसके लिए पार्टी ने उर्दू में बुकलेट छपवाएं हैं, जिसमें सरकार उपलब्धियों का बखान है.

वरिष्ठ बीजेपी नेता ने बताया कि पार्टी ने अपनी राज्य इकाइयों से कहा है कि वह स्थानीय भाषाओं में सरकार की उपलब्धियों का बुकलेट छपवाएं. इसके लिए उर्दू के साथ ही पंजाबी, गुजराती, मलयालम, तेलुगू और बंगाली में बुकलेट छपवाने के लिए कहा गया है. इसके अलावा हिंदी और अंग्रेजी में भी बुकलेट छपवाए गए हैं, जिसे खास तौर पर कॉलेज के युवाओं में बांटा जाएगा.

बीजेपी के बुकलेट पर सबसे ऊपर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर है, जिसके साथ लिखा गया है- 'साल एक, शुरुआत अनेक'. बुकलेट के पहले चार पन्नों पर योजनाओं का जिक्र है. इनमें सरकार की ओर से चलाए जा रहे ट्रेनिंग प्रोग्राम और वाराणसी में बुनकरों के लिए 'उस्ताद' योजना का जिक्र है.

बताया जाता है कि शनिवार को लखनऊ के साथ ही यूपी के कई जिलों तक उर्दू में बुकलेट पहुंचा दिए गए हैं. पूर्वी और पश्चि‍मी यूपी में मुसलमानों की खासी आबादी है, ऐसे में बीजेपी इस ओर कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है. यूपी के साथ ही उर्दू के बुकलेट जम्मू-कश्मीर, पश्चि‍म बंगाल, तेलंगाना और असम भी भेजे गए हैं.

बीजेपी अल्पसंख्यक विंग के नेशनल इनचार्ज अब्दुल रशीद अंसारी कहते हैं, 'पार्टी ने लोगों से जुड़ने और लोगों तक अपनी बात पहुंचाने के लिए हिंदी की सामग्री को दूसरी भाषाओं में अनुवाद करने का निर्णय किया है.' अंसारी ने कहा कि बुकलेट के माध्यम से हम मुस्लि‍म समुदाय को यह बताना चाहते हैं कि सरकार उनके लिए क्या-क्या कर रही है.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay