एडवांस्ड सर्च

BPL से बीएमडब्ल्यू तक...जानें गायत्री प्रजापति की कहानी

गायत्री प्रसाद प्रजापति, सपा सरकार के वो दिग्गज मंत्री थे जो दस साल में ही गरीबी रेखा से खरबपति बन गए. इनकी उपलब्धियों की फेहरिस्त लंबी है.

Advertisement
aajtak.in
मौसमी सिंह / सना जैदी नई दिल्ली, 15 March 2017
BPL से बीएमडब्ल्यू तक...जानें गायत्री प्रजापति की कहानी गायत्री प्रसाद प्रजापति

अखिलेश सरकार में मंत्री रहे गायत्री प्रजापति गैंगरेप केस में गिरफ्तार कर लिए गए हैं. अखिलेश सरकार में प्रजापति सबसे विवादित मंत्री रहे हैं. यूपी पुलिस ने बुधवार को लखनऊ से प्रजापति को गिरफ्तार किया.

क्या है पूरा मामला?

गायत्री प्रजापति के खिलाफ कुछ महीने पहले एक महिला ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था. 35 वर्षीय पीड़िता ने मंत्री के खिलाफ एफआईआर दर्ज न होने पर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया. पीड़िता के अनुसार उसके साथ गैंगरेप हुआ और उसकी बेटी का भी यौन उत्पीड़न किया गया. महिला ने डीआईजी के पास भी इस मामले में अपनी शिकायत दर्ज कराई थी. पीड़िता ने आरोप लगाया कि प्रजापति ने उसे ब्लैकमेल कर पिछले 2 साल में कई बार उसके साथ रेप किया.

बीपीएल से बीएमडब्ल्यू तक
दरअसल, गायत्री प्रजापति के करियर का ग्राफ दस साल में फर्श से अर्श तक पहुंच गया. साल 2002 में वो बीपीएल कार्ड धारक हुआ करते थे. लेकिन अब उनकी सम्पति 942 करोड़ पहुंच गई है. कुछ ख़बरों के मुताबिक करीबी 13 कम्पनियों में उनके निर्देशक हैं. चुनावी हलफनामे में उनकी संपत्ति 10 करोड़ है. जबकि पिछली बार 1.83 करोड़ की घोषणा की थी.

प्रजापति का सियासी सफर
सपा नेतृत्व गायत्री प्रजापति पर ख़ासा मेहरबान रहा. फरवरी 2013 में गायत्री प्रजापति सिंचाई राज्य मंत्री बने. मुलायम की मेहरबानी से जुलाई में उनको स्वतन्त्र प्रभार खनन मंत्री पद से नवाजा गया. फिर तीसरी बार उन्होंने जनवरी 2014 में शपथ ली जब उनको कैबिनेट मंत्री बनाया गया. बाद में उनको झटका तब लगा जब हाई कोर्ट ने खनन विभाग में अनिमियताओं को लेकर सीबीआई जांच के आदेश दिए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay