एडवांस्ड सर्च

कोर्ट के आदेश के बाद भी चल रहे बूचड़खाने, अब योगी राज में हुए बंद

धार्मिक नगरी मथुरा में लंबे अरसे से संचालित जिन बूचड़खानों को हाईकोर्ट के आदेश के बाद भी बंद नहीं कराया जा सका, उन पर योगी राज आते ही ताले लटक गए हैं. सूबे की सत्ता परिवर्तन के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ के एक ही आदेश पर जन्मभूमि के पास मौजूद छह अवैध बूचड़खानों पर ताला लगा दिया गया.

Advertisement
aajtak.in
अशोक सिंघल मथुरा, 23 March 2017
कोर्ट के आदेश के बाद भी चल रहे बूचड़खाने, अब योगी राज में हुए बंद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

धार्मिक नगरी मथुरा में लंबे अरसे से संचालित जिन बूचड़खानों को हाईकोर्ट के आदेश के बाद भी बंद नहीं कराया जा सका, उन पर योगी राज आते ही ताले लटक गए हैं. सूबे की सत्ता परिवर्तन के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ के एक ही आदेश पर जन्मभूमि के पास मौजूद छह अवैध बूचड़खानों पर ताला लगा दिया गया.

बुधवार को प्रशासनिक अधिकारियों की टीम भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंची और बूचड़खानों को सील कर दिया. कृष्ण जन्मभूमि के नजदीक संचालित इन बूचड़खानों के खिलाफ प्रशासन की ओर से पहली बार इतनी बड़ी कार्रवाई की गई है. सरकार से निर्देश मिलने के बाद प्रशासन ने बुधवार को डीग गेट और दरेसी के निकट अवैध रूप से संचालित बूचड़खानों को सील करने की बड़ी कार्यवाई की.

बृहस्पतिवार को भी पुलिस इन बूचड़खानों पर कड़ी नजर रख रही है. वहीं, प्रशासन की इस कार्रवाई से मीट कारोबारियों में हड़कंप मचा हुआ है. इनका कहना है कि बूड़खानों पर ताले लगने से उनका कारोबार बंद हो गया है. अब उनके बच्चे क्या खाएंगे और सरकार उनके लिए किस तरह की व्यवस्था करेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay