एडवांस्ड सर्च

पीड़िता के पिता ने कहा, 'आसाराम के खिलाफ लड़ाई में सबका साथ चाहिए'

आसाराम पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली लड़की के पिता ने राष्ट्रपति समेत सभी पार्टियों और सामाजिक संगठनों से अपील की है कि वे उनके परिवार का हिस्सा बनकर इंसाफ के लिए संघर्ष में साथ दें.

Advertisement
aajtak.in
विनय पांडेय [Edited By: अमरेश सौरभ]शाहजहांपुर, 01 September 2013
पीड़िता के पिता ने कहा, 'आसाराम के खिलाफ लड़ाई में सबका साथ चाहिए' आसाराम

आसाराम पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली लड़की के पिता ने राष्ट्रपति समेत सभी पार्टियों और सामाजिक संगठनों से अपील की है कि वे उनके परिवार का हिस्सा बनकर इंसाफ के लिए संघर्ष में साथ दें.

लड़की के पिता ने कहा कि देश के लोग उन्हें कमजोर न पड़ने दें, क्योंकि उनकी लड़ाई आसाराम जैसे ताकतवर शख्‍स से है. पीडि़ता के पिता ने आसाराम के पक्ष में धरना-प्रदर्शन कर रहे समर्थकों से भी अपील की है कि वे पहचानें कि वो 'भगवान' नहीं, बल्कि 'शैतान' है.

उन्होंने कहा जिन लोगों की बच्चियां आसाराम के आश्रम में पढ़ रही हैं, वे सुरक्षित नहीं हैं, उन्हें आश्रम से वापस बुला लिया जाए. मीडिया के एक सवाल पर उन्होंने कहा कि आसाराम जेल जाने से डर रहे हैं, क्योंकि वो खुद को पवित्र बता रहे हैं और कह रहे हैं कि जेल जाने से वे अपवित्र हो जाएंगे. पीडि़ता के पिता ने कहा कि अगर वे पवित्र हैं, तो जेल जाकर वहां बन्द अपराधियों को भी पवित्र करें.

शाहजहांपुर के रुद्रपुर में बने आसाराम के आश्रम की जगह पर उन्होंने एक मन्दिर बनाए जाने की बात कहीं, क्योंकि यह आश्रम पीडि़ता के पिता ने अपनी गाढ़ी कमाई से बनवाया था और 12 साल तक आसाराम ने इसी आश्रम में रहकर पूजा की थी. उन्होंने कहा कि उन्हें देश के कानून पर पूरा भरोसा है और अगर देश के लोगों ने उनका साथ दिया, तो उसकी बेटी को न्याय जरूर मिलेगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay