एडवांस्ड सर्च

जौहर यूनिवर्सिटी- लाइब्रेरी को बर्बाद करने पर तुला प्रशासन, SP ने राष्ट्रपति को लिखा पत्र

राष्ट्रपति को लिखे शिकायती पत्र में समाजवादी पार्टी ने लिखा कि कुछ समय से प्रशासन और पुलिस मोहम्मद जौहर यूनिवर्सिटी को नष्ट करने और झूठे आरोप में उसे बदनाम करने की कोशिश कर रही है. प्रशासन तलाशी के नाम पर यूनिवर्सिटी की संपत्ति और लाइब्रेरी की किताबों को बर्बाद करने पर उतारू है.

Advertisement
Aajtak.inनई दिल्ली, 01 August 2019
जौहर यूनिवर्सिटी- लाइब्रेरी को बर्बाद करने पर तुला प्रशासन, SP ने राष्ट्रपति को लिखा पत्र आजम खान के बेटे को रामपुर में प्रदर्शन के दौरान गिरफ्तार किया गया (फोटो-ANI)

समाजवादी पार्टी (सपा) के सांसद आजम खान और उनके जौहर यूनिवर्सिटी के खिलाफ जिला प्रशासन की कार्रवाई के विरोध में सपा रामपुर में शक्ति प्रदर्शन कर रही है. इस बीच प्रशासन की कार्रवाई से नाराज पार्टी की जिला इकाई ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को पत्र लिखा है जिसमें आजम खान की जौहर यूनिवर्सिटी पर हो रही प्रशासनिक कार्रवाई पर तत्काल रोक लगाए जाने की मांग की गई है.

राष्ट्रपति को लिखे शिकायती पत्र में समाजवादी पार्टी ने लिखा कि कुछ समय से रामपुर प्रशासन और पुलिस मोहम्मद जौहर यूनिवर्सिटी को नष्ट करने और झूठे आरोप में उसे बदनाम करने की कोशिश कर रही है और वह तलाशी के नाम पर यूनिवर्सिटी की संपत्ति और लाइब्रेरी की किताबों को बर्बाद करने पर उतारू है. आजम खान के बेटे अब्दुल्ला ने राष्ट्रपति को लिखा यह पत्र पुलिस को सौंपा.

पत्र के जरिए जिला इकाई ने राष्ट्रपति से प्रशासन की ओर से की जा रही कार्रवाई पर रोक लगाने की मांग भी की गई है. पत्र में आगे लिखा गया कि राष्ट्रपति भारत की सारी यूनिवर्सिटी का संरक्षक है, इसलिए निवेदन है कि राष्ट्रपति यूनिवर्सिटी पर प्रशासन की दमनकारी नीति पर तत्काल रोक लगाएं.

आजम खान, उनके बेटे और यूनिवर्सिटी पर हो रही कार्रवाई से नाराज समाजवादी पार्टी ने रामपुर विरोध-प्रदर्शन कर रही है. रामपुर जिला प्रशासन पर एकतरफा कार्रवाई के विरोध में पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव पहले ही नेताओं और कार्यकर्ताओं को रामपुर पहुंचने का निर्देश दे चुके थे.

प्रदर्शन को देखते हुए रामपुर में धारा 144 लगा दी गई जिसका उल्लंघन करके सपा कार्यकर्ता आज रामपुर पहुंचे. आज पुलिस और सपा कार्यकर्ताओं के बीच बहस और झड़प भी हुई जिसमें आजम खान के बेटे अब्दुल्ला समेत कई सपा कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया.

बाद में उन्हें छोड़ दिया गया. पुलिस ने अब्दुल्ला को इस शर्त पर छोड़ा है कि अब कोई प्रदर्शन नहीं करेंगे. उनके घर के बाहर पुलिस तैनात की गई है. सपा के कार्यकर्ताओं के बवाल पर डीजीपी का कहना है कि कानून का उल्लंघन करने वालों को हिरासत में ले लिया गया है. किसी को भी कानून हाथ में नहीं लेने देंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay