एडवांस्ड सर्च

पुलिस हिरासत में व्यक्ति की मौत? प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर साधा निशाना

अमेठी जिले में पुलिस कस्टडी में हुई एक व्यक्ति की मौत पर प्रियंका ने योगी सरकार को आड़े हाथों लिया है. प्रियंका ने ट्वीट में लिखा कि यूपी पुलिस अपराधियों पर मेहरबान है, लेकिन नागरिकों को परेशान करने में माहिर है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in अमेठी, 30 October 2019
पुलिस हिरासत में व्यक्ति की मौत? प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर साधा निशाना प्रियंका गांधी के निशाने पर योगी सरकार

  • प्रियंका गांधी का योगी सरकार पर निशाना
  • कानून व्यवस्था को लेकर सरकार को घेरा
  • अमेठी में पुलिस हिरासत में मौत का आरोप
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुधवार सुबह एक बार फिर उत्तर प्रदेश सरकार पर हमला बोला है. अमेठी जिले में पुलिस कस्टडी में हुई एक व्यक्ति की मौत पर प्रियंका ने योगी सरकार को आड़े हाथों लिया है. प्रियंका ने ट्वीट में लिखा कि यूपी पुलिस अपराधियों पर मेहरबान है, लेकिन नागरिकों को परेशान करने में माहिर है.

योगी सरकार पर हमलावर प्रियंका गांधी ने लिखा, ‘यूपी पुलिस अपराधियों पर मेहरबान है लेकिन हरदिन नागरिकों को परेशान करने में माहिर है. प्रतापगढ़ के सत्य प्रकाश शुक्ला का परिवार बता रहा है कि उनको बच्चों के सामने टॉर्चर किया गया, हापुड़ में इस तरह की घटना हुई थी. भाजपा सरकार के कान पर जूँ तक नहीं रेंग रही.’

pg-t_103019102557.jpg

गौरतलब है कि प्रियंका गांधी वाड्रा लगातार सोशल मीडिया के जरिए यूपी की योगी सरकार और केंद्र की मोदी सरकार पर हमलावर हैं. फिर चाहे अर्थव्यवस्था का मसला हो या फिर यूपी में कानून व्यवस्था की बात हो.

दरअसल, अमेठी जिले के पीपरपुर क्षेत्र में बीते दिनों 26 लाख रुपये की लूटपाट हुई थी. इसी मसले में पूछताछ के लिए स्थानीय पुलिस ने सत्य प्रकाश शुक्ल और उनके दो बेटों को हिरासत में लिया था. परिवारजनों का आरोप है कि पुलिस थाने में इनसे पूछताछ की गई और इसी दौरान सत्य प्रकाश शुक्ल की मौत हो गई.

इसी मसले पर कांग्रेस लगातार सवाल खड़े कर रही है. प्रियंका गांधी के अलावा उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने भी योगी सरकार पर हमला बोला था.

उन्होंने ट्वीट किया, ‘उत्तर प्रदेश हत्याओं का प्रदेश बन चुका है, हर रोज प्रदेश के किसी ना किसी जिले से हत्या की ख़बर आती है लेकिन अफ़सोस कि ये सरकार बेख़बर है. स्थिति ये है कि जिसको सुरक्षा की जिम्मेवारी है उसी पुलिस की कस्टडी में आरोपी की मौत हो जाती है. अमेठी की घटना इसका उदाहरण है.’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay