एडवांस्ड सर्च

चांद पर विक्रम लैंडर से संपर्क होने तक करेगा प्रार्थना, युवक ने तिरंगा लेकर मचाया हंगामा

एक ओर भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो के वैज्ञानिक अब भी मिशन चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर से संपर्क साधने में लगे हैं.तो दूसरी ओर एक युवक यह कहते हुए यमुना ब्रिज पर चढ़ गया कि विक्रम के संपर्क में आने तक वह प्रार्थना करता रहेगा. जिस कारण काफी देर तक ब्रिज पर हंगामा मचा रहा.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 17 September 2019
चांद पर विक्रम लैंडर से संपर्क होने तक करेगा प्रार्थना, युवक ने तिरंगा लेकर मचाया हंगामा प्रयागराज के युवक ने ब्रिज पर चढ़कर जमकर मचाया उत्पात (वीडियो ग्रैब)

  • प्रयागराज में एक युवक तिरंगा लेकर यमुना ब्रिज पर चढ़ा
  • कहा- जब तक विक्रम से संपर्क नहीं होता तब तक प्रार्थना करूंगा

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो के वैज्ञानिक अब भी अपने दूसरे मून मिशन चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर से संपर्क साधने में लगे हैं. पिछले दिनों विक्रम का चांद की सतह पर लैंड करने के दौरान इसरो से संपर्क टूट गया था. इससे फिर से संपर्क करने की कोशिश की जा रही है, लेकिन इस बीच प्रयागराज में एक युवक हाई वोल्टेज ड्रामा करते हुए यमुना ब्रिज पर चढ़ गया और कहने लगा कि जब तक लैंडर विक्रम का इसरो से संपर्क नहीं हो जाता तब तक वह चंद्रदेव से प्रार्थना करता रहेगा.

देर रात नए यमुना ब्रिज के पिलर पर एक युवक तिरंगा लेकर चढ़ गया. उसके ब्रिज पर चढ़ने के कारण लोगों की भीड़ जुटती रही और वहां अच्छा खासा तमाशा खड़ा हो गया.

रजनीकांत के नाम के इस शख्स ने कागज पर एक संदेश भी लिख रखा था जब तक चंद्रयान-2 लैंडर विक्रम का इसरो से संपर्क नहीं हो जाता तब तक चंद्रदेव से प्रार्थना करूंगा.

vikarm_091719022021.jpgविक्रम लैंडर के संपर्क होने तक प्रार्थना करने की कही बात

पिलर पर चढ़ने वाले युवक की पहचान हो गई. रजनीकांत नाम का यह युवक प्रयागराज के मांडा थाना क्षेत्र का रहने वाला है. पिछले दिनों रजनीकांत ने पर्यावरण बचाने को लेकर भी यमुना ब्रिज पर चढ़कर जमकर हंगामा किया था.

दूसरी ओर, इसरो विक्रम लैंडर से संपर्क साधने की कोशिश कर रहा है और अब उसके साथ अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा (NASA) भी आ गया है और वह अपने डीप स्पेस नेटवर्क के 3 सेंटर्स से लगातार चंद्रयान-2 के ऑर्बिटर और लैंडर से संपर्क बनाए हुए है.

इसके अलावा नासा अपने लूनर रिकॉनसेंस ऑर्बिटर (LRO) के जरिए चांद के उस हिस्से की तस्वीरें भी लेगा, जहां विक्रम लैंडर गिरा और संपर्क टूट गया. आज 17 सितंबर को नासा का LRO चांद के उस हिस्से से गुजरेगा, जहां विक्रम लैंडर है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay