एडवांस्ड सर्च

मायावती ने लगाया इल्जाम तो शिवपाल यादव ने याद दिलाया इतिहास

Shivpal Yadav hits back to Mayawati प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) (Pragatisheel Samajwadi Party (Lohia) के चीफ शिवपाल सिंह यादव ने बहुजन समाज पार्टी (BSP) सुप्रीमो मायावती पर जोरदार पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के साथ सरकार बनाने वाले मुझी पर आज आरोप लगा रहे हैं.

Advertisement
aajtak.in
नीलांशु शुक्ला लखनऊ, 13 January 2019
मायावती ने लगाया इल्जाम तो शिवपाल यादव ने याद दिलाया इतिहास Shivpal Singh Yadav (Photo Source- aajtak.in)

समाजवादी पार्टी (SP) के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल सिंह यादव ने बहुजन समाज पार्टी (BSP) की अध्यक्ष मायावती पर पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) के साथ मिलकर उत्तर प्रदेश में सरकार बनाने वाले ही मुझ पर बीजेपी से मिले होने का आरोप लगा रहे हैं. आर्थिक भ्रष्टाचार में लिप्त और अपनी पार्टी का टिकट बेचने वाले ही अनाप-शनाप बयानबाजी कर रहे हैं.

बीजेपी के साथ मिलकर सपा-बसपा गठबंधन को कमजोर करने के मायावती के आरोपों पर तीखा वार करते हुए शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि दलित, पिछड़ों और अल्पसंख्यकों का वोट लेकर बीजेपी की गोद में बैठ जाने वाले लोग मुझ पर बीजेपी से मिले होने का आरोप लगा रहे हैं. आम जनमानस और मीडिया को यह बात भलि-भांति पता है कि उत्तर प्रदेश में बीजेपी के साथ मिलकर बार-बार किसने सरकार बनाई थी? साथ ही उन्हें यह भी बताने की जरूरत नहीं है कि मेरा साम्प्रदायिक शक्तियों के खिलाफ पिछले 4 दशकों का संघर्ष किसी भी संदेह से परे है.

मायावती पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए शिवपाल सिंह यादव ने कहा, 'यह भी बेहद दुखद है कि आर्थिक भ्रष्टाचार में लिप्त और अपनी पार्टी का टिकट बेचने वाले मुझ पर बीजेपी से आर्थिक सहयोग प्राप्त होने का आरोप लगा रहे हैं. समाजवादी पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को समझना चाहिए कि इसके पहले भी मायावती पिछड़ों, दलितों और मुसलमानों का वोट लेकर बीजेपी की गोद में बैठ चुकी हैं. ऐसे में कहीं ऐसा न हो कि इतिहास फिर से खुद को दोहराए और मायावती चुनाव के बाद बीजेपी से जाकर मिल जाएं. ये भी सबको पता है की राजस्थान, मध्य प्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के चुनाव में कांग्रेस से गठबंधन न कर बीजेपी को लाभ किसने पहुंचाया.

शिवपाल यादव पर मायावती ने ली थी चुटकी, अखिलेश भी नहीं रोक पाए थे हंसी

शुक्रवार को लखनऊ में बसपा-सपा गठबंधन के ऐलान के दौरान मायावती ने प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) प्रमुख शिवपाल यादव पर चुटकी लेते हुए कहा था, 'हमारे गठबंधन से डरकर भारतीय जनता पार्टी अखिलेश यादव का नाम खनन घोटाले में घसीट रही है और केंद्रीय जांच एजेंसी (सीबीआई) का दुरुपयोग कर रही है. इससे सपा-बसपा गठबंधन कमजोर होने की बजाय और मजबूत हुआ है. इससे बीजेपी का शिवपाल यादव पर पानी की तरह बहाया गया पैसा भी बेकार चला जाएगा.'

बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा, 'पर्दे के पीछे से बीजेपी द्वारा चलाई जा रही शिवपाल यादव की प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) समेत मुस्लिमों, दलितों और पिछड़ों के नाम पर बनाई गई पार्टियों और बीजेपी के संगठन के द्वारा खड़े किए प्रत्याशियों को यूपी के लोग अपना वोट देकर बर्बाद नहीं करेंगे. सूबे की जनता हमारे पवित्र और भाईचारे पर आधारित गठबंधन को नुकसान नहीं पहुंचाएगी.' मायावती के इस बयान पर शिवपाल यादव के भतीजे अखिलेश यादव भी अपनी हँसी नहीं रोक पाए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay