एडवांस्ड सर्च

UP: विकास की राह देख रही ये कॉलोनी, विरोध में पानी की टंकी पर चढ़े लोग

उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद स्थित श्री राम कॉलोनी आजादी के 72 साल बाद भी बिजली, पानी और सड़क जैसी बुनियादी सुविधाओं से अछूता है. सैकड़ों बार प्रशासन और सरकार से गुहार लगाने के बाद भी यहां विकास का एक भी काम नहीं हुआ.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 22 September 2019
UP: विकास की राह देख रही ये कॉलोनी, विरोध में पानी की टंकी पर चढ़े लोग पानी टंकी पर चढ़े लोग

  • फिरोजाबाद का यह इलाका विकास कार्यों से अछूता
  • सड़क, पानी और बिजली की समस्या से जूझ रहे लोग

उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद स्थित श्री राम कॉलोनी आजादी के 72 साल बाद भी बिजली, पानी और सड़क जैसी बुनियादी सुविधाओं से अछूता है. सैकड़ों बार प्रशासन और सरकार से गुहार लगाने के बाद भी यहां विकास का एक भी काम नहीं हुआ. इससे परेशान स्थानीय लोगों ने रविवार को 8 मंजिला पानी की टंकी पर चढ़कर अपना विरोध जताया.

पानी की टंकी पर चढ़कर विरोध

एक दर्जन से अधिक लोगों ने टंकी पर चढ़कर चार घंटे तक हंगामा किया. हंगामा बढ़ता देख मौके पर पुलिस और प्रशासन के लोग भी पहुंचे, लेकिन लोगों ने उनकी एक न सुनी और 'हमारी मांगे पूरी करो' के  नारे लगाने लगे. हालांकि, अधिकारियों ने उन्हें मनाने की पूरी कोशिश की.

लोगों ने श्री राम कॉलोनी को नगर निगम में शामिल करने की मांग की. वहीं, आयुक्त ने बताया कि 15 दिन में बोर्ड की मीटिंग है, जिसमें श्री राम कॉलोनी को नगर निगम में शामिल किए जाने का प्रस्ताव पास होगा. साथ ही उन्होंने बताया कि दिसंबर तक यहां काम भी शुरू हो जाएगा.

बदहाल है श्री राम कॉलोनी

हालांकि, जनता अधिकारियों की बात से सहमत नहीं हैं. लोगों का कहना है कि सुविधाओं के साथ-साथ क्षेत्र में रहने वालों के राशन कार्ड और पहचान पत्र भी नहीं बन पाए हैं. दरअसल, फिरोजाबाद की श्री राम कॉलोनी ना तो नगर निगम में आती है और ना ही नगर पंचायत में, इसलिए इस क्षेत्र का विकास नहीं हो पाया है. यहां तमाम ऐसी समस्याएं हैं जिन्हें दूर करने के लिए यहां विकास होना बहुत जरूरी है. स्थानीय व्यक्ति अनिल ने बताया कि 12 साल से कोई सुनवाई नहीं हो रही है, सड़कें खराब हैं, पानी का निकास तक नहीं है, बिजली नहीं है, खंभे भी नहीं हैं.

वहीं, 60 फीट ऊंची टंकी पर चढ़े शिव कुमार ने बताया कि हम सांसद और विधायक को वोट देते हैं लेकिन यहां आज तक विकास नहीं हुआ. क्षेत्र में जितने लोग रहते हैं उनके जन्म प्रमाण पत्र और मृत्यु प्रमाण पत्र तक नहीं बन रहे हैं क्योंकि हमारी कॉलोनी नगर निगम और नगर पंचायत के अंतर्गत नहीं आती है. तहसील जाने पर अधिकारी कह देते हैं कि यह नगर निगम में और नगर पंचायत में है ही नहीं तो प्रमाण पत्र कैसे जारी कर सकते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay