एडवांस्ड सर्च

कमलेश तिवारी मर्डर: फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगा केस, फांसी की मांग करेगी योगी सरकार

योगी सरकार ने कमलेश तिवारी की हत्या का मामला फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने का फैसला किया है. ब्रजेश पाठक ने कहा है कि सरकार परिवार की सभी मांगो को पूरा करेगी.

Advertisement
aajtak.in
शि‍वेंद्र श्रीवास्तव सीतापुर, 21 October 2019
कमलेश तिवारी मर्डर: फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलेगा केस, फांसी की मांग करेगी योगी सरकार कमलेश तिवारी के परिजन से सीएम योगी की मुलाकात (फाइल फोटो-ANI)

  • कमलेश तिवारी हत्याकांड का मामला फास्ट ट्रैक में चलेगा
  • परिजनों से मुलाकात करने पहुंचे कानून मंत्री ब्रजेश पाठक
  • हत्यारों के लिए फांसी की मांग करेगी यूपी सरकार

योगी सरकार ने कमलेश तिवारी की हत्या का मामला फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने का फैसला किया है. परिजनों से मिलने सीतापुर पहुंचे कानून मंत्री ब्रजेश पाठक ने कहा कि सरकार फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई के लिए कार्यवाही करेगी.

कानून मंत्री ब्रजेश पाठक ने कहा है कि सरकार परिवार की सभी मांगो को पूरा करेगी. साथ ही फास्ट ट्रैक कोर्ट के जरिए सरकार हत्यारों की फांसी की भी मांग करेगी.

शाहजहांपुर में दिखे संदिग्ध हत्यारे

कमलेश तिवारी हत्याकांड के संदिग्ध हत्यारे शाहजहांपुर में दिखाई दिए हैं. इसके बाद एसटीएफ ने होटलों और मदरसों के मुसाफिरखानो में ताबड़तोड़ छापेमारी की. पुलिस को सीसीटीवी फुटेज में संदिग्ध दिखाई दिए हैं. फिलहाल एसटीएफ की टीम शाहजहांपुर में डेरा जमाए हुए है.

यह भी पढ़ें: कमलेश तिवारी हत्याकांड: CM योगी ने स्वीकार कीं परिजनों की ये 2 मांगें

सूत्रों की मानें तो कमलेश तिवारी हत्या के संदिग्ध हत्यारे लखीमपुर जिले के पलिया से इनोवा गाड़ी बुक करा कर शाहजहांपुर पहुंचे थे. संदिग्धों की शाहजहांपुर में लोकेशन मिलने पर एसटीएफ ने तड़के 4 बजे कई होटलों, मदरसों और मुसाफिरखाना में ताबड़तोड़ छापेमारी की.

ड्राइवर हिरासत में

एसटीएफ ने इनोवा गाड़ी के ड्राइवर को हिरासत में ले लिया है. पुलिस को शक है कि संदिग्ध शाहजहांपुर में ही कहीं छिपे हो सकते है या फिर इस रास्ते से कहीं भागने की फिराक में है.

यह भी पढ़ें: फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर आरोपी ने कमलेश तिवारी से की थी दोस्ती

आरोपी सूरत से गिरफ्तार

हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी हत्याकांड में उत्तर प्रदेश पुलिस ने शनिवार को तीन लोगों को गुजरात के सूरत से गिरफ्तार किया था. यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने बताया था कि कमलेश तिवारी हत्याकांड में सभी आरोपियों की पहचान हो गई है और 24 घंटे में हत्याकांड का पर्दाफाश हो गया है.

यह भी पढ़ें: फर्जी फेसबुक आईडी बनाकर आरोपी ने कमलेश तिवारी से की थी दोस्ती

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay