एडवांस्ड सर्च

मुजफ्फरनगर: एंटी-CAA प्रदर्शन और हिंसा में गिरफ्तार 54 लोगों की हिरासत बढ़ी

मुजफ्फरनगर हिंसा के मामले में गिरफ्तार 54 लोगों को कोर्ट ने न्यायिक हिरासत में भेज दिया था, जिसकी अवधि 17 जनवरी को समाप्त हो रही थी. सभी आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया, जिसके बाद कोर्ट ने इनकी न्यायिक हिरासत की अवधि 28 जनवरी तक बढ़ा दी.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in मुजफ्फरनगर, 17 January 2020
मुजफ्फरनगर: एंटी-CAA प्रदर्शन और हिंसा में गिरफ्तार 54 लोगों की हिरासत बढ़ी प्रतीकात्मक चित्र

  • मीनाक्षी चौक पर हुआ था हिंसक प्रदर्शन
  • एक युवक की हुई थी मौत, 3 हुए थे घायल

देश की संसद से नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) लागू होने के बाद कई राज्यों और शहरों में विरोध- प्रदर्शन हुए. उत्तर प्रदेश में भी कई स्थानों पर हिंसक विरोध- प्रदर्शन हुए. उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में हुए प्रदर्शन के दौरान भी हिंसा हुई थी.

मुजफ्फरनगर हिंसा के मामले में गिरफ्तार 54 लोगों को कोर्ट ने न्यायिक हिरासत में भेज दिया था, जिसकी अवधि 17 जनवरी को समाप्त हो रही थी. सभी आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया, जिसके बाद कोर्ट ने इनकी न्यायिक हिरासत की अवधि 28 जनवरी तक बढ़ा दी.

गौरतलब है कि मुजफ्फरनगर में सीएए के खिलाफ हुए प्रदर्शन के दौरान हिंसा भड़क उठी थी. शहर के मीनाक्षी चौक पर हुए विरोध प्रदर्शन के दौरान भीड़ के बेकाबू होने और हिंसा भड़कने के बाद पुलिस ने हालात को नियंत्रित करने के लिए बल प्रयोग करते हुए लाठी चार्ज किया था.  इस दौरान गोलीबारी भी हुई थी. इस घटना में एक युवक की मौत हो गई थी, जबकि तीन लोग घायल हो गए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay