एडवांस्ड सर्च

Advertisement

आदित्यनाथ का फर्स्ट डे: CM आवास का शुद्धिकरण, अफसरों को 'मंत्र'

आदित्यनाथ का फर्स्ट डे: CM आवास का शुद्धिकरण, अफसरों को 'मंत्र'
aajtak.in [Edited By: लव रघुवंशी]नई दिल्ली, 21 March 2017

उत्तर प्रदेश की नई सरकार का सोमवार को पहला दिन था. योगी आदित्यनाथ सरकार अपने पहले दिन से ही एक्शन में आ गई. प्रधानमंत्री मोदी के लिए यूपी की अहमियत क्या है, इसका एहसास मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भी है, और इसकी झलक उनके कार्यकाल के पहले दिन से ही दिखाई देने लगी है.

सीएम हाउस का कराया शुद्धिकरण
सीएम पद की शपथ लेने के अगले ही दिन यानि सोमवार को योगी आदित्यनाथ ने सीएम हाउस में दस्तक दे दी. सुबह से ही गोरखपुर से आई पुजारियों की टीम मुख्यमंत्री आवास में तैनात थी. कहा जा रहा था कि मकान का शुद्धिकरण किया जा रहा है, और योगी कुछ दिनों बाद ही गृहप्रवेश करेंगे, लेकिन दोपहर बाद ही योगी अपने काफिले के साथ 5 कालिदास मार्ग पहुंच गए. सूत्रों के मुताबिक योगी आदित्यनाथ ने आवास में धार्मिक पहलुओं के हिसाब चल रहे बदलाव का जायजा लिया.

अधिकारियों को दिलाई शपथ
इससे पहले सुबह से ही योगी सरकार एक्शन में दिखी. योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को अपनी पहली अहम बैठक यूपी के डीजीपी के साथ की. योगी सरकार ने डीजीपी को 15 दिन का वक्त दिया है जिसके भीतर कानून-व्यवस्था दुरुस्त करने का ब्लूप्रिट तैयार हो जाएगा. गृह विभाग भी अलर्ट मोड में आ गया है. इसके बाद दोनों डिप्टी सीएम के साथ मुख्यमंत्री ने बैठक की और सरकार के एजेंडे पर बात की. मीटिंग के बाद सीएम योगी और दोनों डिप्टी सीएम ने अधिकारियों के साथ भी अपनी पहली बैठक की. मुख्यमंत्री ने सभी अधिकारियों को खड़े होकर ईमानदारी, स्वच्छता और स्पष्टता की शपथ दिलाई. आगे के रोड मैप के बारे में सभी अधिकारियों से चर्चा की और सभी को अपनी संपत्तियों का ब्योरा देने के लिए कहा. सोमवार शाम को नई सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए अखिलेश सरकार में नियुक्त सलाहकारों, उपाध्यक्षों और चेयरमैनों को हटाया.

योगी के काम पर मोदी की नजर
'आज तक' को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक यूपी पर पीएम मोदी की सीधी नजर रहेगी. जिसका जिम्मा नृपेंद्र मिश्र को दिया गया है. सूत्रों के मुताबिक, हर जरूरी बात के लिए मुख्यमंत्री योगी को पीएमओ से निर्देश मिलेगा. पीएम मोदी के प्रधान सचिव नृपेंद्र मिश्रा योगी सरकार के रोज के कामों पर नज़र रखेंगे. नई सरकार के साथ ही प्रशासनिक फेरबदल एक सामान्य प्रक्रिया है, जो यूपी में भी होगा. लेकिन सूत्रों की मानें तो यूपी में टॉप अफसरों की नियुक्ति को हरी झंडी मोदी के करीबी नृपेंद्र मिश्र ही देंगे.

रविवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में नृपेंद्र मिश्र के साथ करीब 45 मिनट तक मुलाकात भी की थी. इस मुलाकात का असर ही है कि टीम योगी जबर्दस्त एक्शन में दिख रही है. अब मंगलवार को योगी आदित्यनाथ दिल्ली जाएंगे और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से मुलाकात कर मंत्रियों के विभाग बंटवारे को लेकर चर्चा करेंगे.

(आजतक लाइव टीवी देखने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं.)

टैग्स

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay