एडवांस्ड सर्च

मुख्यमंत्री अखिलेश ने 'हम हैं राही प्यार के' किताब का किया विमोचन, कहा किताबें बेहतरीन दोस्त

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि किताबें सबसे अच्छी दोस्त होती हैं. अखिलेश ने चुटकी लेते हुए कहा कि लोग समाजवादियों के बारे में क्या सोचते हैं कि कोई ऐसी किताब भी पढ़ सकता है.

Advertisement
aajtak.in
सना जैदी/ अनूप श्रीवास्तव लखनऊ, 30 April 2016
मुख्यमंत्री अखिलेश ने 'हम हैं राही प्यार के' किताब का किया विमोचन, कहा किताबें बेहतरीन दोस्त मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी डिम्पल यादव भी मौजूद रहीं

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शनिवार को राजधानी लखनऊ में आईएएस अफसर पार्थ सारथी सेन शर्मा की नव प्रकाशित पुस्तक 'हम हैं राही प्यार के' का विमोचन किया. इस दौरान मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि किताबें सबसे अच्छी दोस्त होती हैं. अखिलेश ने चुटकी लेते हुए कहा कि लोग समाजवादियों के बारे में क्या सोचते हैं कि कोई ऐसी किताब भी पढ़ सकता है.

इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी और कन्नौज की सांसद डिम्पल यादव भी मौजूद रहीं. डिम्पल यादव ने कहा कि जरूरी नहीं कि आप लाइफ में जो प्लान करते हैं चीजे उसी के हिसाब से चलती है. उन्होनें कहा कि अगर सब चीजें प्लान के मुताबिक चलें तो लाइफ में एक्साइमेंट कहां से होगा. 'हम हैं राही प्यार के' किताब पार्थ सारथी सेन शर्मा द्वारा लिखित पुस्तक 'लव साइड बाई साइड ' का हिंदी अनुवाद है. यह पुस्तक 1990 के दशक के भारत की झलक दिखाने के साथ-साथ यह भी बताती है कि कभी-कभी बहुत सोच-समझकर बनाई गई योजना की असफलता जीवन की सबसे खूबसूरत घटना बन जाती है.

समाजवादियों ने सबसे पहले महिलाओं को सम्मान दिया
अखिलेश ने कहा कि अभी मैं कुछ दिन पहले वीमेंस डे मना रहा था. मैंने उस समय उसका इतिहास निकाला. इतिहास निकाल कर जब उसकी पूरी जानकारी ली. तो मैंने पाया कि दुनिया में किसी ने महिलाओं को सम्मान दिया तो वो समाजवादियों ने अमेरिका में दिया. ऐसा लगता है कि इस किताब में एक सफर है. एक मां अपनी बेटी की शादी के लिए एक बेटा ढूंढ रही है. 'हम हैं राही प्यार के' ये किताब आम आदमी तक पहुंचेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay