एडवांस्ड सर्च

अखिलेश ज्यादा ना बोलें तो अच्छा, पढ़ा करें, पढ़ने से फायदा होता है: अमित शाह

भारतीय जनता पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को लखनऊ में रैली को संबोधित किया. CAA के समर्थन में की गई इस रैली में अमित शाह समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव पर जमकर बरसे.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in लखनऊ, 21 January 2020
अखिलेश ज्यादा ना बोलें तो अच्छा, पढ़ा करें, पढ़ने से फायदा होता है: अमित शाह केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (फाइल फोटो: PTI)

  • लखनऊ में अमित शाह की रैली
  • CAA के समर्थन में शाह की रैली
  • अखिलेश यादव पर किया तंज

नागरिकता संशोधन एक्ट के समर्थन में रैली करने लखनऊ पहुंचे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह विपक्ष पर जमकर बरसे. समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव पर तीखा हमला करते हुए अमित शाह ने कहा कि CAA के मसले पर अखिलेश यादव ना बोलें तो ही बेहतर रहेगा.

लखनऊ की सभा में अमित शाह विपक्ष पर जमकर बरसे और अखिलेश यादव को आड़े हाथों लिया. अमित शाह ने कहा, ‘अखिलेश बाबू, ज्यादा ना बोले तो अच्छा हैं. किसी के रटे रटाए वाक्य बोल देते हो, मंच पर आकर CAA पर कुछ शब्द कह सकें तो बताएं.’

केंद्रीय गृह मंत्री ने सपा प्रमुख पर तंज कसते हुए उन्हें सलाह दी और कहा कि अखिलेश कभी पढ़ा करें, पढ़ने से फायदा होता है. गौरतलब है कि अखिलेश यादव लगातार सोशल मीडिया के जरिए मोदी और योगी सरकार पर हमला करते रहे हैं.

राहुल से लेकर ममता पर बरसे गृह मंत्री

गृह मंत्री ने कहा कि दलित बंगालियों को आज नागरिकता मिल रही है तो ममता बनर्जी को दिक्कत हो रही है. विपक्ष को आदत पड़ गई है कि देशहित की जो भी बात हो उसका विरोध करना है.

अयोध्या में राम मंदिर के फैसले पर भी लखनऊ में अमित शाह ने बात की. गृह मंत्री ने सुप्रीम कोर्ट में इस केस को लटकाने का कांग्रेस पर आरोप लगाया. अमित शाह ने कहा कि 500 साल पहले अयोध्या में भगवान राम का मंदिर तोड़ दिया गया था, जबतक कांग्रेस थी तबतक मंदिर नहीं बन पाया. जैसे ही कोर्ट में केस आता था, तो कांग्रेस के कपिल सिब्बल अड़ंगा लगाते थे.

शाह बोले कि लेकिन अब मैं आपको बताता हूं कि तीन महीने में अयोध्या में आसमान को छूता हुआ राम का मंदिर बनने जा रहा है. इसका भी कांग्रेस-मायावती-अखिलेश विरोध कर रहे थे.

JNU में लगे देश विरोधी नारे

अमित शाह ने यहां कहा कि 2 साल पहले JNU में देश विरोधी नारे लगे, ऐसा करने वालों को मोदी जी ने उन्हें देश में डाला है. लेकिन विपक्ष वाले इसे स्वतंत्रता का अधिकार बता रहे हैं. मैं विपक्ष को बताना चाहता हूं कि हमें गाली दें, लेकिन जो भारत माता के खिलाफ नारे लगाएगा उसे जेल के पीछे डाल दिया जाएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay