एडवांस्ड सर्च

नहीं रहे पूर्व ब्यूरोक्रेट और माइक्रोसॉफ्ट के CEO सत्य नडेला के पिता बीएन युगांधर

पूर्व नौकरशाह और माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्य नडेला के पिता बीएन युगांधर का निधन हो गया. हैदराबाद में उन्होंने शुक्रवार को आखिरी सांस ली, वे 82 साल के थे. 1962 बैच के आईएएस अपनी सहज और साधारण जीवन शैली के लिए जाने जाते थे. उनके निधन पर राजनीतिक जगत की हस्तियों ने शोक जताया है.

Advertisement
aajtak.in
आशीष पांडेय हैदराबाद, 14 September 2019
नहीं रहे पूर्व ब्यूरोक्रेट और माइक्रोसॉफ्ट के CEO सत्य नडेला के पिता बीएन युगांधर पूर्व नौकरशाह बीएन युगांधर का शुक्रवार को निधन हो गया. (फोटो-twitter)

  • माइक्रोसॉफ्ट के CEO सत्य नडेला के पिता बीएन युगांधर का निधन
  • देश के जाने-माने नौकरशाह थे बीएन युगांधर
  • पूर्व पीएम नरसिम्हा राव के साथ किया था काम

पूर्व नौकरशाह और माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्य नडेला के पिता बीएन युगांधर का निधन हो गया. हैदराबाद में उन्होंने शुक्रवार को आखिरी सांस ली, वे 82 साल के थे. 1962 बैच के आईएएस अपनी सहज और साधारण जीवन शैली के लिए जाने जाते थे. उनके निधन पर राजनीतिक जगत की हस्तियों ने शोक जताया है.

बीएन युगांधर 2004 से 2009 तक योजना आयोग के सदस्य रहे, इसके अलावा वह मसूरी स्थित लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी के निदेशक भी रहे. पूर्व प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव के कार्यकाल में वह प्रधानमंत्री कार्यालय में तैनात रहे. इसके अलावा ग्रामीण विकास मंत्रालय में सचिव भी रहे.

बीएन युगांधर के नजदीकी सूत्रों ने बताया कि पिछले कुछ समय से उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं था, शुक्रवार दोपहर को उनका निधन हो गया. बीएन युगांधर के निधन पर उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने शोक जताया है. वेंकैया नायडू ने कहा कि वे बीएन युगांधर के निधन की खबर सुनकर दुखी हैं, वे एक समर्पित अधिकारी थे, उन्होंने समाज के पिछड़े तबकों और ग्रामीण भारत के विकास के लिए काम किया.

 केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने भी उनके निधन पर शोक जताया है और उनके पुत्र सत्य नडेला को ढाढ़स बंधाया है. धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि वे सेवानिवृत आईएएस बीएन युंगाधर के निधन की खबर सुनकर दुखी है, उन्होंने गरीबों के लिए कल्याणकारी योजनाओं के कार्यान्यवयन में अहम भूमिका निभाई. तेलंगाना के मुख्य सचिव एस के जोशी ने युगंधर के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि वह आईएएस अधिकारियों के अगुवा थे और सिविल सेवा अधिकारियों के ताज में हीरा के समान थे. आईएएस एसोसिएशन ने भी इनके निधन पर शोक जताया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay