एडवांस्ड सर्च

‘कैप्टन अमरिंदर को इस्तीफा दे देना चाहिए’

पंजाब विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की हार के लिए प्रदेश के पार्टी प्रमुख अमरिंदर सिंह सहित अन्य कारकों को जिम्मेदार ठहराते हुए कपुरथला जिला कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुखपाल खरा ने कहा कि हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए सिंह को अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे देना चाहिए.

Advertisement
आजतक ब्यूरोजालंधर, 15 March 2012
‘कैप्टन अमरिंदर को इस्तीफा दे देना चाहिए’ अमरिंदर सिंह

पंजाब विधानसभा चुनावों में कांग्रेस की हार के लिए प्रदेश के पार्टी प्रमुख अमरिंदर सिंह सहित अन्य कारकों को जिम्मेदार ठहराते हुए कपुरथला जिला कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुखपाल खरा ने कहा कि हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए सिंह को अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे देना चाहिए.

कपुरथला जिला कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष तथा जिले के भुलत्थ से पूर्व विधायक खरा ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘कैप्टन अमरिंदर सिंह बहुत अच्छे व्यक्ति हैं. चुनाव में हार हुई है. यही सच है और उन्हें इसकी नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए पद से इस्तीफा दे देना चाहिए.’ प्रदेश प्रमुख के करीबी माने जाने वाले इस नेता ने कहा, ‘चुनाव के नतीजे आने के तत्काल बाद उन्होंने कहा था कि वह इस हार की जिम्मेदारी लेते हैं. लेकिन इसके साथ ही उन्हें प्रदेश प्रमुख के पद से त्यागपत्र भी दे देना चाहिए.’ उल्लेखनीय है कि इससे पहले पार्टी के वरिष्ठ नेता अवतार सिंह बराड भी कैप्टन अमरिंदर सिंह से नैतिकता के आधार पर त्यागपत्र देने की मांग कर चुके हैं.

खरा ने कहा, ‘चुनाव में हार के कई कारण हैं. इनमें अकालियों द्वारा लोगों में बेतहाशा पैसा बांटना सबसे बड़ा कारण है. इसके अलावा टिकटों का बंटवारा, समय से उम्मीदवारों की घोषणा नहीं होना, कैप्टन का किसी बागी को नहीं मनाना तथा सही तरीके से चुनाव प्रचार नहीं होना भी चुनाव के हार के कारणों में शामिल है.

कैप्टन अमरिंदर सिंह का नाम लिये बिना उन पर हमला बोलते हुए खरा ने कहा, ‘चुनाव में हार के बाद कार्यकर्ता रो रहे हैं और वरिष्ठ नेता जन्मदिन मनाने और उसकी पार्टी करने में व्यस्त हैं. इससे कार्यकर्ताओं में गलत संदेश जाता है.’ पार्टी के इस तेज तर्रार एवं युवा नेता ने यह भी कहा कि समान विचार वाले लोगों को एकजुट कर पार्टी पंजाब में ‘कांग्रेस बचाओ यात्रा’ निकाली जाएगी.

इससे पहले पंजाब में साफ सुथरी सरकार देने के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल पर अपने वादे को सरकार के पहले ही दिन खुद ही खारिज कर देने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस नेता ने कहा, ‘दागी व्यक्ति को मंत्री बनाया जा रहा है और दूसरे दागी को पुलिस प्रमुख बनाया जा रहा है तो सरकार साफ सुथरी कैसे होगी यह स्पष्ट नहीं है.’

उन्होंने कहा, ‘जिस बीबी जागीर कौर को कैबिनेट में शामिल किया गया है उन पर हत्या का मुकदमा चल रहा है. दूसरी ओर वरिष्ठता को लांघ कर सूबे में पुलिस प्रमुख नियुक्त किये गए सुमेध सैनी के खिलाफ सीबीआई की अदालत में भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला लंबित है.

खरा ने कहा, ‘मैं मुख्यमंत्री से पूछना चाहता हूं कि वह लोगों को कैसी सरकार देने के इच्छुक हैं.’

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay