एडवांस्ड सर्च

चित्तौड़गढ़ में रेस्क्यू ऑपरेशन खत्म, सुरक्षित निकाले गए 350 स्कूली बच्चे

मउपुरा गांव से गुजरने वाली पुलिया पर जलस्तर बढने और तेज बहाव के कारण निजी आदर्श विद्या मंदिर विद्यालय के 352 बच्चे और 25 अध्यापकों को स्कूल में ही सुरक्षा के तौर पर डेरा डालना पड़ा.

Advertisement
aajtak.in
शरत कुमार जयपुर, 17 September 2019
चित्तौड़गढ़ में रेस्क्यू ऑपरेशन खत्म, सुरक्षित निकाले गए 350 स्कूली बच्चे बच्चों को बचाया गया (फोटो- शरत कुमार)

  • 350 बच्चों को बाहर निकाला गया
  • दो दिन से फंसे थे स्कूली बच्चे

राजस्थान के चित्तौड़गढ़ में दो दिनों से फंसे 350 स्कूली बच्चों को ग्रामीणों के सहयोग से बाहर निकाल दिया गया है. दो दिन पूर्व भारी बारिश के चलते रावतभाटा के राणा सागर बांध के 17 गेट खोल देने के बाद भैसरोड़गढ और रावतभाटा में बाढ़ के हालात बन गए. इस बीच मउपुरा गांव से गुजरने वाली पुलिया पर जलस्तर बढ़ने और तेज बहाव के कारण निजी आदर्श विद्या मंदिर विद्यालय के 352 बच्चे और 25 अध्यापकों को स्कूल में ही सुरक्षा के तौर पर डेरा डालना पड़ा.

दो दिनों में ग्रामीणों के सहयोग से प्रशासन में सभी प्रभावितों को भोजन पहुचांने की व्यवस्था की, लेकिन हालात बिगड़ने के कारण उन्हें मौके से निकालने में प्रशासन फेल नजर आया.

इधर, सोमवार को सीएम अशोक गहलोत ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का हवाई दौरा भी किया. वहीं सांसद सीपी जोशी, पूर्व विधायक सुरेश धाकड़ भी नाव और ट्रैक्टर की सहायता से बच्चों तक पहुंचे, जिसके बाद ग्रामीणों की मदद से बच्चों को ट्रैक्टरों के माध्यम से 10 किलोमीटर से अधिक का सफर तय करने के बाद उन्हें घर पहुंचाने का प्रयास किया गया. इस दौरान प्रशासन और जनप्रतिनिधियों के बीच कहासुनी जैसी नौबत भी आ गई.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay