एडवांस्ड सर्च

'वसुंधरा पार्टी की नहीं सुनती', ये राउडी राठौर का डायलॉग लग रहा है- राज्यवर्धन

राज्यवर्धन सिंह राठौर ने कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व से लेकर प्रदेश इकाई तक पर सवाल उठाए और कहा कि आज राजस्थान की हर गली में कांग्रेस के मुख्यमंत्री घूम रहे हैं, लेकिन उनके पास कोई विजन या एजेंडा नहीं है.

Advertisement
aajtak.in[Edited By: राहुल झारिया]नई दि‍ल्‍ली, 03 December 2018
'वसुंधरा पार्टी की नहीं सुनती', ये राउडी राठौर का डायलॉग लग रहा है- राज्यवर्धन राज्यवर्धन सिंह राठौर(फाइल फोटो-PTI)

केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर से जब पूछा गया कि क्‍या आपकी पार्टी से ही राजस्‍थान की मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे पार्टी के आलाकमान की बात नहीं सुनती हैं? तो राज्यवर्धन सिंह ने राजे का बचाव करते हुए इसे महज अटकलें करार दिया और जवाब दिया कि ये तो राउडी राठौर का डायलॉग लग रहा है. केंद्रीय मंत्री रविवार को 'आजतक' के कार्यक्रम 'सीधी बात' में सवालों के जवाब दे रहे थे.

बता दें कि इस साल बीजेपी के राजस्थान अध्यक्ष की नियुक्ति को लेकर वसुंधरा राजे और अमित शाह के बीच मतभेदों की रिपोर्ट सामने आई थीं. इस नियुक्ति पर अंतिम मुहर लगने में काफी वक्त गया था. वहीं, दूसरी तरफ पार्टी की प्रदेश इकाई के नेताओं व राजे के बीच समन्वय को लेकर भी चर्चा होती रही है.

दरअसल, राजे ने प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए अमित शाह की पसंद केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत को मानने से इनकार कर दिया था. हालांकि, बाद में मदन लाल सैनी को राज्य का नया बीजेपी अध्यक्ष बनाने पर सहमति हो गई.

हालांकि, सीएम राजे ने सितंबर में हुए ‘इंडिया टुडे वुमन समिट एंड अवार्ड्स’ में अमित शाह से मतभेदों को लेकर कहा था कि उनके आपस में बहुत अच्छे कामकाजी रिश्ते हैं और दोनों के बीच किसी तरह की समस्या नहीं है. साथ ही बीते गुरुवार को ही आजतक के कार्यक्रम 'पंचायत आजतक ' में अमित शाह ने भी राजे के साथ किसी प्रकार के मतभेद से इनकार किया था.

पिछले एक महीने में सारी हवा बदली

इसके अलावा राज्यवर्धन ने 'सीधी बात' में ये भी कहा कि कांग्रेस ने राजस्थान की जीत के जितने भी सर्वे किए गए, वे चार महीने पहले के हैं. पिछले एक महीने में सारी हवा बदल चुकी है. अब बंदरबांट नहीं होगा. सिर्फ लीडरशिप बदली तो नतीजे आशाजनक आ रहे हैं. राजस्थान चुनाव जीतने में हमें कोई मुश्क‍िल नहीं है. पहले हम योजनाओं को पहुंचाने में बिजी थे, अब हम चुनाव जीतने के लिए काम कर रहे हैं.

जिनके पास जमीन नहीं होती थी, उन्‍हें पट्टे दिए

केन्‍द्रीय मंत्री के मुताबिक, राजस्थान में हम बड़ी जीत दर्ज करेंगे. आप यहां जिस भी ग्राम पंचायत पर उंगली रखेंगे, वहां 10 से 15 प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभ ले चुके लोग मिल जाएंगे. जिनके पास कभी सिर छिपाने की जमीन नहीं होती थी, आज उनके पास पट्टा है. हमने ग्राउंड लेवल पर काम किया है.

प्रैक्ट‍िस मैच हारे, हम बड़े मैच के खिलाड़ी

मंत्री राज्‍यवर्धन ने सवाल के जवाब में कहा कि लोगों को बीजेपी से अपेक्षाएं रहती है कांग्रेस से नहीं. राजस्थान में हुए उपचुनाव में अलवर में हमें हार मिली, मांडलगढ़ में हार मिली, यह हम मानते हैं. लेकिन वह हमारे लिए प्रैक्ट‍िस मैच थे. जिसमें हमें हार मिली. हम बड़े मैच के खिलाड़ी हैं, और हम इसमें जीत दर्ज करेंगे.

हमें जमीनी स्तर पर लोगों के दर्द का अहसास

आगे उन्‍होंने कहा कि हमारी जीत के कारण भी हैं. हमारे यहां काम करने का संकल्प लेना होता है. हमारे यहां पदवी नहीं, बल्क‍ि जिम्मेदारी होती है. यहां सभी को जमीनी स्तर पर लोगों के दर्द का अहसास होता है. इसलिए हम दावा कर रहे हैं कि इन विधानसभा चुनावों में हम जीत दर्ज करेंगे. बता दें कि खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर राजस्थान की राजधानी जयपुर (ग्रामीण) से सांसद हैं.

बता दें कि तीन राज्यों में विधानसभा चुनाव संपन्न हो चुके हैं, जबकि राजस्थान व तेलंगाना में 7 दिसंबर को मतदान होना है. इससे  पहले राज्य में जमकर चुनाव प्रचार चल रहा है. सभी पांच राज्यों के नतीजे 11 दिसंबर को घोषित किए जाएंगे.

To get latest update about Rajasthan elections SMS RJ to 52424 from your mobile . Standard  SMS Charges Applicable.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay