एडवांस्ड सर्च

सचिन पायलट ने गांव में गुजारी रात, खाट पर खाया खाना, झोपड़ी में सोए

राजस्थान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट एक बार फिर से प्रदेश की जनता के बीच जा रहे हैं. इसी सिलसिले में रविवार देर शाम जालोर जिले के कासेला गांव में जनता के बीच में सचिन पायलट पहुंचे.

Advertisement
aajtak.in [Edited By: अभिषेक शुक्ल]नई दिल्ली, 11 June 2019
सचिन पायलट ने गांव में गुजारी रात, खाट पर खाया खाना, झोपड़ी में सोए (तस्वीर- ट्विटर)

राजस्थान में इन दिनों मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट के बीच अनबन की खबरें जगजाहिर हैं. अशोक गहलोत जहां अपने बेटे वैभव गहलोत की हार के लिए सचिन पायलट को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं वहीं इन सबसे बेखबर सचिन पायलट इन दिनों दो दिवसीय दौरे पर राजस्थान के ग्रामीण इलाकों में घूम रहे हैं.

राजस्थान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट एक बार फिर से प्रदेश की जनता के बीच जा रहे हैं. इसी सिलसिले में रविवार देर शाम जालोर जिले के कासेला गांव में जनता के बीच में सचिन पायलट पहुंचे.

कासेला गांव के ही एक किसान जय किशन के खेत में सचिन पालयट ने रात गुजारी. इस दौरान वे उप मुख्यमंत्री होने के बावजूद एक आम नागरिक की तरह नजर आए. सचिन पायलट ने किसानों के बीच न केवल वक्त गुजारा बल्कि उन्होंने खुले आसमान में खाट पर बैठकर खाना भी खाया. सचिन पायलट ने अपने इस दौरे में स्थानीय जनता से बातचीत भी की.

सचिन पायलट ने अपने ट्वीट में कहा कि राजस्थान की जनता का प्यार ही मेरी ताकत है. 2 साल पहले, कसेला गांव के किसान जयकिशन जी के यहां रात्रिविश्राम किया था. मैंने उनसे वादा किया था कि दोबारा भी आऊंगा. मैंने अपना वादा पूरा किया.'

इस दौरे में सचिन पायलट ने स्थानीय लोगों के साथ तस्वीरें भी खिंचवाई. उन्होंने बच्चों, बुजुर्गों और महिलाएं के साथ भी तस्वीरें खिंचवाईं. स्थानीय लोगों के साथ सचिन पायलट ने खाट पर बैठकर चर्चा भी की और चाय भी पी. सचिन पायलट इस दौरान झोपड़ी में खाना खाते भी नजर आए. उन्होंने अपने ट्विटर पर इन तस्वीरों को साझा भी किया है.

राजस्थान कांग्रेस में अशोक गहलोत और सचिन पायलट में रिश्ते सामान्य नहीं है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जहां अपने बेटे के चुनाव में हार पर सचिन पायलट को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं वहीं कहा जा रहा है कि कांग्रेस की मध्यप्रदेश और राजस्थान में खराब प्रदर्शन की वजह से कांग्रेस पार्टी का शीर्ष नेतृत्व इनसे नाराज है. कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में इस बात का जिक्र किया गया था कि राहुल गांधी ने कहा था कि मध्य प्रदेश और राजस्थान में पार्टी ने इसलिए खराब प्रदर्शन किया क्योंकि मुख्यंत्री कमलनाथ और अशोक गहलोत ने पार्टी से ऊपर अपने बेटों की जीत को तरजीह दी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay