एडवांस्ड सर्च

राजस्थानः राहुल की रैली में CAA और NRC से दूर रहेगी कांग्रेस, NRU पर फोकस

कांग्रेस को यह लगने लगा है कि बीजेपी को सीएए और एनआरसी जैसे मुद्दों से फायदा हो रहा है और आर्थिक मुद्दों पर घिरने से केंद्र सरकार बच रही है. राहुल गांधी जयपुर से इन मुद्दों को उठाकर पूरे देश में लेकर जाएंगे और कांग्रेस इसे लेकर देशभर में माहौल बनाने की कोशिश करेगी.

Advertisement
aajtak.in
शरत कुमार जयपुर, 28 January 2020
राजस्थानः राहुल की रैली में CAA और NRC से दूर रहेगी कांग्रेस, NRU पर फोकस कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (फाइल फोटोः PTI)

  • सरकार के कामकाज पर फीडबैक लेंगे राहुल गांधी
  • राहुल की रिलॉन्चिंग से जोड़कर देखी जा रही रैली

कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी मंगलवार को राजस्थान के जयपुर में युवा आक्रोश रैली को संबोधित करेंगे. इससे पहले राहुल गांधी ओटीएस भवन में कांग्रेस के मंत्रियों, विधायकों और पदाधिकारियों के साथ बैठक कर प्रदेश सरकार के कामकाज पर फीडबैक लेंगे.

कांग्रेस को यह लगने लगा है कि बीजेपी को सीएए और एनआरसी जैसे मुद्दों से फायदा हो रहा है और आर्थिक मुद्दों पर घिरने से केंद्र सरकार बच रही है. राहुल गांधी जयपुर से इन मुद्दों को उठाकर पूरे देश में लेकर जाएंगे और कांग्रेस इसे लेकर देशभर में माहौल बनाने की कोशिश करेगी. यही रणनीति है. इसके लिए जयपुर को ही क्यों चुना गया, इसके पीछे इस शहर से राहुल के पुराने नाते को वजह बताया जा रहा है.

यह भी पढ़ें- जयपुर: राहुल गांधी की रीलॉन्चिंग में जुटी कांग्रेस, रैली को लेकर कश्मकश

कांग्रेस इस रैली में राजस्थान से एनआरसी के तर्ज पर एनआरयू बनाकर भारत सरकार को सौंपेंगी. इसमें नेशनल रजिस्टर ऑफ अनइंप्लॉयमेंट शुरू करने की मांग की जाएगी. राजस्थान कांग्रेस की तरफ से एक मिस्ड कॉल अभियान चलाया जा रहा है जिसमें युवा बेरोजगार मिस्ड कॉल के जरिए एनआरयू में अपना रजिस्ट्रेशन करा रहे हैं.

गौरतलब है कि कांग्रेस की तरफ से लगातार कोशिश की जा रही है कि इस रैली को सीएए और एनआरसी जैसे मुद्दों से दूर रखा जाए. इसमें केवल बेरोजगारी और महंगाई पर फोकस किया जाए. आर्थिक मुद्दों पर केंद्र सरकार को घेरा जाए. कांग्रेस के नेताओं को भी यह बताया गया है कि लोगों से इस रैली को लेकर सीएए और एनआरसी के मुद्दों पर चर्चा न करें.

यह भी पढ़ें- राहुल-प्रियंका पहुंचे NHRC, कहा- CAA प्रदर्शनकारियों के खिलाफ पुलिस बर्बरता की जांच हो

बता दें कि राहुल गांधी को साल 2013 में जयपुर के बिरला हॉल में कांग्रेस का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया गया था. 2018 में जब सूबे में कांग्रेस की सरकार बनी, तो जनवरी 2019 में राहुल ने जयपुर में ही किसान रैली की थी. जनाक्रोश रैली को भी राहुल गांधी की रीलॉन्चिंग की तैयारी से जोड़कर देखा जा रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay