एडवांस्ड सर्च

मुख्य सचिव नहीं बनाए जाने से नाराज दलित IAS ने कबूला इस्लाम, VRS के लिए भी लिखी चिट्ठी

वरिष्ठ आईएएस अध‍िकारी एसीएस उमराव सलोदिया ने धर्म परिवर्तन के साथ ही अब अपना नाम उमराव खान रख लिया है.

Advertisement
aajtak.in
स्‍वपनल सोनल/ शरत कुमार जयपुर, 01 January 2016
मुख्य सचिव नहीं बनाए जाने से नाराज दलित IAS ने कबूला इस्लाम, VRS के लिए भी लिखी चिट्ठी वरिष्ठ आईएएस अधि‍कारी उमराव सलोदिया

ब्यूरोक्रेसी की दुनिया में प्रमोशन और पद को लेकर नाराजगी की कई खबरें आई हैं, लेकिन राजस्थान में मुख्य सचिव नहीं बनाए जाने से नाराज एक अधिकारी ने वह किया, जिससे सियासी भूचाल मच गया है. प्रदेश में अतिरिक्त मुख्यसचिव और राजस्थान रोडवेज के एमडी उमराव सलोदिया प्रमोशन मिलने से इस कदर नाराज हुए हैं कि उन्होंने इस्लाम धर्म कबूल कर लिया है.

वरिष्ठ आईएएस अध‍िकारी एसीएस उमराव सलोदिया ने धर्म परिवर्तन के साथ ही अब अपना नाम उमराव खान रख लिया है. उनका कहना है कि मौजूदा मुख्यसचिव सीएस राजन को तीन महीने का एक्सटेंशन दिया गया, जबकि एक दलित को मुख्य सचिव बनने से वंचित रखा गया है. इसके अलावा उमराव सलोदिया ने एच्छिक सेवानिवृति यानी वीआरएस के लिए भी आवेदन कर दिया है.

'इस्लाम में नहीं है जात-पात'
गौरतलब है कि सलोदिया को जून 2016 में रिटायर होना है. वह कहते हैं, 'मेरी वरिष्ठता होने के बावजूद भी सरकार ने मुख्य सचिव को एक्सटेंशन दिया है. नौकरी से वीआरएस लेना मेरा अधिकार है. इसी अधिकार के तहत केंद्र सरकार को मैंने तीन महीने का नोटिस दिया है.' उन्होंने मीडिया के सामने हिंदू धर्म छोड़ कर मुस्लिम बनने की घोषणा की. सलोदिया ने इस बाबत कहा कि वह इस्लाम धर्म से प्रभावित हैं. इस्लाम में जात-पात नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay