एडवांस्ड सर्च

लड़कियों को छेड़ रहे मनचलों को कृष्णा पूनिया ने ऐसे सिखाया सबक

जैवलिन थ्रो में दुनियाभर में अपना लोहा मनवा चुकी कृष्णा पुनिया जब मोटरसाईकिल की पीछे भागीं, तो मनचलों को पता नहीं था कि ये अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी गुस्से में तेज दौड़ का रिकॉर्ड भी तोड़ सकती है.

Advertisement
शरत कुमार [Edited By: सुरभि गुप्ता]जयपुर, 04 January 2017
लड़कियों को छेड़ रहे मनचलों को कृष्णा पूनिया ने ऐसे सिखाया सबक मनचलों को कृष्णा पूनिया ने सिखाया सबक

जैवलिन थ्रो की अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी और प्रदेश कांग्रेस सचिव कृष्णा पूनिया ने रविवार को उन बदमाशों को अच्छा सबक सिखाया, जो दिनदहाड़े कुछ लड़कियों को छेड़ रहे थे. पूनिया ने मोटरसाईकिल से भाग रहे मनचले को दौड़ाया और पुलिस के हवाले कर दिया.

जैवलिन थ्रो में दुनियाभर में अपना लोहा मनवा चुकी कृष्णा पूनिया जब मोटरसाईकिल की पीछे भागीं, तो मनचलों को पता नहीं था कि ये अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी गुस्से में तेज दौड़ का रिकॉर्ड भी तोड़ सकती है. घटना रविवार दोपहर 1.30 बजे की है. कृष्णा बहल रोड से आ रही थी. उस समय पिलानी रेलवे फाटक बंद था. इसी दौरान कृष्णा पूनिया ने दो डरी सहमी सी खड़ी लड़कियों को देखा, जिनकों तीन मोटरसाईकिल पर सवार बदमाश लड़के परेशान कर रहे थे. वहां और भी लोग खड़े थे, मगर किसी ने उन लड़कों को नहीं टोका. लेकिन कृष्णा से ये सहन नहीं हुआ. वह तुरंत अपनी गाड़ी से उतरी और लड़कियों से पूछा तो वे रोने लगी. रोते हुए उन्होंने पुनिया को घटना की जानकारी दी.

बेटियों को इस हाल में देख कृष्णा पूनिया को गुस्सा आ गया. उन्होंने पैदल ही उन लड़कों के पीछे दौड़ लगा दी. तीन में से दो लड़के कृष्णा को गाड़ी से उतरता देख पहले ही घटना स्थल से भाग चुके थे. तीसरा लड़का सूरजभान मोटरसाईकिल पर सवार होकर भागने लगा, तो कृष्णा पूनिया उसके पीछे दौड़ पड़ीं. पुनिया ने उसका 50 मीटर तक पीछा किया और दबोच लिया. पूनिया को यूं सड़क पर दौड़ता देख वहां पर लोगों की भीड़ जमा हो गई. घटना की जानकारी मिलने पर सभी ने युवक को घेर लिया. इसके बाद कृष्णा ने सादुलपुर थाने फोन कर घटना की जानकारी दी. कुछ ही देर में पुलिस मौके पर पहुंच गई. वहां पर उस बदमाश को पुलिस के हवाले कर दिया गया. लड़कियां सादुलपुर के वार्ड 12 की हैं.

अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी से राजनीति तक का सफर कर रही चूरू जिले के गांव गागडबास की कृष्णा पूनिया की चर्चा आज फिर से जिले भर में हो रही है. इस बार उन्होंने जो किया, वह उनके एक जागरूक महिला और जनप्रतिनिधि होने का सबूत है. यह देखेने को मिला नववर्ष के पहले दिन, जबकि अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी और प्रदेश कांग्रेस सचिव कृष्णा पूनिया ने नाबालिग लड़कियों से छेड़छाड़ करने वाले बदमाशों को ललकारते हुए ना केवल उनमें से एक को 50 मीटर दौड़ के दबोच लिया बल्कि उसे पुलिस के हवाले भी कर दिया है. कृष्णा पूनिया का कहना है कि समाज में हर महिला को मनचलों के खिलाफ साहस दिखाना चाहिए. पूनिया ने कहा कि उन्होंने अपना कर्तव्य निभाया है.



आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay